लाइफस्टाइल हेल्थ

लॉकडाउन में लगातार बढ़ती जा रही फोन सेक्स की डिमांड, सेक्स वर्कर डिजिटल सेक्स से कैसे कमा रहीं पैसे?

sex 2 2 लॉकडाउन में लगातार बढ़ती जा रही फोन सेक्स की डिमांड, सेक्स वर्कर डिजिटल सेक्स से कैसे कमा रहीं पैसे?

जहां एक तरफ कोरोना का चलते दुनियाभर में लगे लॉकडाउन ने लोगों के घर की आर्थिक स्थिति बिगाड़ दी है तो वहीं दूसरी तरफ लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर सेक्स वर्कस पर पड़ रहा है। कोरोना ने सेक्सवर्कस का जीवन पहले से कहीं ज्यादा मुश्किल कर दिया है। और ये हालत सिर्फ देश की नई विदेशों के भी है।

लॉकडाउन में लगातार बढ़ती जा रही फोन सेक्स की डिमांड, सेक्स वर्कर डिजिटल सेक्स से कैसे कमा रहीं पैसे?

सेक्स वर्कस अधिकतर गुमनामी की जिंदगी जीती है। इसलिए उन तक सरकरी सुविधाएं नहीं पहुंच पा रही हैं। इसलिए दिनों दिन इनके हालात बिगड़ते जा रहे हैं।सोशल डिस्टेंसिग के चलते उन मर्दों की जिंदगी भी मुश्किल हो गई है। जो सेक्स की इच्छा पूरी करने के लिए सेक्स वर्कस के पास जाते हैं।

इसलिए इस मुसीबत के समय में इन लोगों ने एक नई तरकीब निकाली है। जिसे डिजिटल सेक्स या फिर फोन सेक्स का नाम दिया गया है।अब आप सोच रहे होंगे की फोन पर काम इच्छा का पूरी करने का ये कौन सा तरीका है। लेकिन हम कहेंगे ऐसे धड़िले के साथ हो रहा है।
कोरोना का सेक्स वर्कर्स पर काफी बुरा असर पड़ा है। आय का जरिया ना होने से उन्हें आजीविका में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

जिनके पास मोबाइल फोन और इंटरनेट की सुविधा है, वे तो फोन सेक्स और वीडियो कॉलिंग की मदद से कुछ कमाई कर ले रही हैं। वहीं जिनके पास ऐसी सुविधाएं नहीं हैं, वे आय का दूसरा जरिया तलाश रही हैं।वीडियो सेक्स के जरिए सेक्स वर्कर ऑन लाइन ही पैसे कमा रही हैं। सेक्स वर्कस का इस पर कहना है कि, ज्यादा पैसे तो नहीं मिल रहे लेकिन खर्चा चलाने के लिए थोड़े बहुत पैसे वो जरबर जुटा लेती हैं।

जिन सेक्स वर्कर के पास पर्याप्त पैसा नहीं होने पर ग्राहक उनके फोन का रिचार्ज भी करा देते हैं। ज्यादातर ग्राहक ऐसे हैं, जो इस माहामारी के वक्त में अकेले रह गए हैं। कई ग्राहक वॉट्सऐप वीडियो कॉल करते हैं। और पैसों का लेनदेन डिजिटल माध्यम से करते हैं।
तमिलनाडु में ऐसा कोई रेड लाइट एरिया ना होने की वजह से ज्यादातर सेक्स वर्कर ‘छिपी’ होती हैं। लॉकडाउन में कई तो फोन का सहारा ले ले रही हैं ।

https://www.bharatkhabar.com/china-takes-a-step-towards-banning-dog-meat/
चार साल पहले हुए एक सर्वे के अनुसार तमिलनाडु में 90 प्रतिशत ट्रांसजेंडर्स सेक्स वर्कर्स स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं।आपको बता दें फोन पर सेक्स आज से नहीं बल्कि काफी पहले से ही हो रहा है।लेकिन लॉकडाउन से पहले सेक्स वर्कर इस कम इस्तेमाल करती थीं। लेकिन कोरोना के बाद वीडियो सेक्स का इस्तेमाल ज्यादा होने लगा है।

Related posts

डेंगू का मच्छर अब दिन के साथ रात को भी काट सकता है

piyush shukla

India Corona Case: कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, 24 घंटे में मिले 12,591 नए मरीज

Rahul

ब्रेकफास्ट करते समय ना करें ये गलतियां, आपकी सेहत पर पड़ सकता है असर

Rahul