सिर्फ एक उपाय और कोरोना का खतरा हो जायेगा कम, जानिए आसान तरीका

लखनऊ: कोरोना वायरस सिर्फ एक बीमारी नहीं, लोगों की जिंदगी को खत्म करने का एक बड़ा कारण बनता जा रहा है। भारत में नई लहर का बहुत बुरा असर देखने को मिल रहा है, यह सीधा मनुष्य के फेफड़ों पर अपना प्रभाव डाल रहा है। इसीलिए ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की लगातार मांग अस्पतालों में बढ़ रही है।

शोध में हुआ खुलासा

इस दौर में जर्नल ऑफ लाइफ साइंस की शोध ने नई उम्मीद जगाई है। इसके अनुसार भाप का लगातार इस्तेमाल करने से कोरोना को निष्क्रिय किया जा सकता है। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय और संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान के विशेषज्ञों ने भी इसकी पुष्टि की है। उनके अनुसार अगर प्रतिदिन 3 से 4 बार 5 मिनट तक भाप लिया जाए तो वायरस को खत्म किया जा सकता है।

ऐसा होता है वायरस का प्रसार

वहीं डॉ सूर्यकांत त्रिपाठी के अनुसार यह संक्रमण पहले मुंह, नाक और गले में कई दिनों तक रहता है। उसके बाद फेफड़ों की तरफ बढ़ता है। ऐसे में अगर पहले ही इसे गर्म पानी और गरारा की मदद से खत्म कर दिया जाए तो बीमारी आगे नहीं फैलेगी। साथ ही यह वायरस पूरी तरह से निष्क्रिय हो जाएगा।

up 1 29 सिर्फ एक उपाय और कोरोना का खतरा हो जायेगा कम, जानिए आसान तरीका

भाप में पैरानैसल साइनस में छुपे कोरोना वायरस को खत्म करने की क्षमता होती। इन सबके अलावा कई अन्य अध्ययनों में भी इस बात की पुष्टि हुई है। 50 डिग्री सेल्सियस पर यह वायरस निष्क्रिय होने लगता है जबकि 60 डिग्री के तापमान पर पूरी तरह से कमजोर हो जाता है। वहीं 70 डिग्री पर इसके खत्म होने की भी बात कही जा रही है।

ऐसे लें भाप और रहें रोग मुक्त

वैसे तो देसी इलाज करने के सबके अपने अपने तरीके होते हैं लेकिन भाप लेने के लिए सबसे आसान उपाय यही है। इसमें सादे पानी के साथ उसमें विक्स, संतरा-नींबू के छिलके, टी ट्री ऑयल, लहसुन, नीम की पत्ती, अदरक सब कुछ मिलाकर गर्म करना चाहिए। इसके बाद इसी गर्म भाप को लेने से काफी फायदा मिलता है। यह पूरा मिश्रण वायरस को खत्म करने में मदद करता है।

सिर्फ एक उपाय और कोरोना का खतरा हो जायेगा कम, जानिए आसान तरीका

भाप

कोरोना पॉजिटिव लोगों में भी दिखा सकारात्मक असर

विशेषज्ञ यह भी कहते हैं कि इस गर्म भाप का सेवन सिर्फ सामान्य लोग ही नहीं, कोरोना संक्रमित लोगों पर भी अच्छा असर करता है। संक्रमित लोगों पर 5 मिनट तक इसका प्रयोग करके देखा गया तो काफी अच्छे नतीजे सामने आए। वायरस के प्रसार में बहुत हद तक कमी देखने को मिली थी। ऐसे में भाप कोरोना वायरस से लड़ाई में रामबाण का काम कर सकता है।

कानपुर में चलती रोडवेज बस में लगी भीषण आग, ऐसे बची यात्रियों की जान

Previous article

52 लाख केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, 17% से 28% हो सकता है DA

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured