featured देश

नितिन गडकरी ने ली मंत्रियों की चुटकी, कहा- हर कोई दुखी है

nitin gadkari 1617442152 नितिन गडकरी ने ली मंत्रियों की चुटकी, कहा- हर कोई दुखी है

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने का कहना है कि लोकतंत्र का मकसद सबसे आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति के जीवन को बदलना है। इस अवसर पर उन्होंने राजनेताओं की चुटकी लेते हुए कहा कि इस वक्त मंत्री से लेकर राजनेता सभी दुखी हैं। राजनेता इस लिए दुखी हैं कि उनको अच्छा पद नहीं मिला और मंत्री इस लिए दुखी है कि उनके पास अच्छा पद है तो उनको सीएम बनने का मौका नहीं मिला। इस वक्त सभी दुखी है। वहीं मुख्यमंत्री इस लिए दुखी हैं क्योंकि उनको इस बात का भरोसा नहीं है कि वह कब रहे और कब चले जाएं कुछ पता नहीं।

बता दें की नितिन गडकरी का ये बयान ऐसे वक्त में आया है जब कुछ ही महीनों में बीजेपी में 4 मुख्यमंत्री बदले गए हैं। पहले उत्तराखंड और सोमवार को ही विजय रूपाणी की जगह भुपेंद्र पटेल ने गुजरात के नए सीएम के रूप में शपथ ली है। नितिन गडकरी ने राजस्थान विधानसभा में ‘संसदीय प्रणाली और जन अपेक्षाएं‘ विषय पर आयोजित संगोष्ठी के समापन सत्र में सचिन तेंदुलकर और सुनिल गावस्कर से हुई बातचीत के बारे में भी जिक्र किया।

गडकरी ने कहा कि जब मैंने गावस्कर से मुलाकात की तो उन्होंने कहा कि समस्या सब जगह है और राजनीति स्किल है। समस्या पार्टी के अंदर, पार्टी के बाहर, विधानसभा में, परिवार में सभी जगह समस्या है। हर कोई किसी ना किसी को हटाने की बात करता है। दुनिया में कोई इंसान ऐसा नहीं जिसके सामने समस्या नहीं है। एक ने पूछा की आप में से कौन सुखी है। तो किसी ने हाथ खड़ा नहीं किया। क्योंकि जो एमएलए हैं वो इसलिए दुखी हैं कि वो मंत्री नहीं बन पाए। उन्होंने सामने बैठे मंत्री से कहा कि मैं आपके लिए नहीं कह रहा हूं।

गडकरी ने कहा, ”राजनीति सामाजिक और राजनीतिक बदलाव का प्रभावी उपकरण है। इसलिए लोकतंत्र के माध्यम से समाज के सबसे आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति के जीवन को टिकाउ बनाना, सामाजिक आर्थिक परिवर्तन करना और उसी से समाज और राष्ट्र का निर्माण करना ही लोकतंत्र का मकसद है।

Related posts

भतीजे ने अपनी विधवा चाची को उतारा मौत के घाट, वजह कर देगी हैरान

Rani Naqvi

राजकोषीय घाटा का कारण है बैंक क्रेडिट विकास दर में गिरावट

Trinath Mishra

Breaking News