featured देश

आफत: अभी नहीं मिलेगी बारिश से राहत, राजधानी दिल्ली में टूटा 47 साल का पुराना रिकॉर्ड

city rain j आफत: अभी नहीं मिलेगी बारिश से राहत, राजधानी दिल्ली में टूटा 47 साल का पुराना रिकॉर्ड

दिल्ली-एनसीआर में बीते 24 घंटों से लगातार भारी बारिश हो रही है। कई इलाकों में जलजमाव हो गया है। राजधानी के हर तरफ पानी ही पानी देखने को मिल रहा है।

 

सड़कों पर लग रहा लंबा जाम

बारिश की वजह से कई स्थानों पर लंबा ट्रैफिक जाम देखने को मिल रहा है। जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

 

heavy rain आफत: अभी नहीं मिलेगी बारिश से राहत, राजधानी दिल्ली में टूटा 47 साल का पुराना रिकॉर्ड

राजधानी दिल्ली में टूटा 47 साल पुराना रिकॉर्ड

मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में अभी तक 1100 मिलीमीटर बारिश हुई जो कि 46 वर्षां में सबसे अधिक और पिछले साल दर्ज की गई बारिश से लगभग दोगुनी है। रिकार्ड के अनुसार ‘सफदरजंग वेधशाला ने 1975 के मानसून के मौसम में 1,150 मिलीमीटर बारिश दर्ज की थी। इस साल बारिश पहले ही 1,100 के आंकड़ें को पार कर गयी है और मानसून का मौसम अभी खत्म नहीं हुआ है।

 

heavy rain आफत: अभी नहीं मिलेगी बारिश से राहत, राजधानी दिल्ली में टूटा 47 साल का पुराना रिकॉर्ड

एयरपोर्ट में पानी भरने से मचा हड़कंप

बीते 24 घंटे में भारी बारिश के चलते इंदिरा गांधी एयरपोर्ट के कुछ हिस्सों में पानी भर जाने से हड़कंप मच गया। वहीं मौसम विभाग के अनुसार आज यानी रविवार को दिल्ली और आसपास के इलाकों में बादल छाए रहने के साथ बारिश की संभावना है।

यह भी पढ़े

 

तालिबान: पंजशीर में युवक पर सरेआम चलाई गोलियां, देखें वीडियो

 

मौसम विभाग ने किया अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने 13 और 14 सितंबर को गरज के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। वहीं 15 सितंबर को बादल छाए रहेंगे,।लेकिन बारिश होने की संभावना ना के बराबर है। हालांकि 16 सितंबर को हल्के बादल बने रहने के साथ बारिश की संभावना है। जबकि 17 सितंबर से एक बार फिर भारी बारिश का दौर लौट सकता है।

heavy rain आफत: अभी नहीं मिलेगी बारिश से राहत, राजधानी दिल्ली में टूटा 47 साल का पुराना रिकॉर्ड
पहाड़ी इलाकों में भी जमकर होगी बारिश

मौसम विभाग के अनुसार आज यानि रविवार को दिल्ली के अलावा हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, वेस्टर्न यूपी, वेस्टर्न राजस्थान उत्तराखंड, पंजाब और जम्मू डिवीजन में भारी बारिश की संभावना है।

Related posts

NCERT की किताब में बदलाव, गुजरात दंगों पर लिखे ”एंटी मुस्लिम” शब्द को हटाया

lucknow bureua

राखी सावंत ने उड़ाया अनूप जलोटा का मजाक, बोलीं- ‘एक पैर कब्र में हैं और…’

mohini kushwaha

सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण देने के लिए सरकार को इन चुनौतियों का करना पड़ेगा सामना

mahesh yadav