January 28, 2022 11:26 am
featured देश पर्यटन

हिल स्टेशन और बाजारों में बेकाबू हुई भीड़, सरकार ने जताई चिंता, राज्य सरकारों को लिखा पत्र

tourists 0 हिल स्टेशन और बाजारों में बेकाबू हुई भीड़, सरकार ने जताई चिंता, राज्य सरकारों को लिखा पत्र
रोजाना कोरोना के मामले कम होते दिख रहे हैं। केसों में भी कमी आ रही है। केसों में कमी आने के कारण सरकार द्वारा लोगों को छूट दी जा रही है। लेकिन छूट मिलते ही लोगों ने कोरोना नियमों का उल्लघंन करना शुरू कर दिया है।
भीड़ की तस्वीरें आई सामने
पिछले कुछ दिनों से पहाड़ी इलाकों में पर्यटकों का आना जाना लगा है। रोजाना हजारों की संख्या में गाड़िया पहाड़ों का रूख कर रही हैं। जिसमें यह साफ दिख रहा है कि लोग किसी भी तरह कोरोना नियमों का पालन नहीं कर रहें हैं।  हर जगह भीड़ दिख रही है। जो कि चिंता की खबर है। अब तो वहां हालात ऐसे बने हैं कि सरकार को इस पर चिंता जतानी पड़ गई।
navbharat times 2 हिल स्टेशन और बाजारों में बेकाबू हुई भीड़, सरकार ने जताई चिंता, राज्य सरकारों को लिखा पत्र
राज्य सरकारों को लिखा पत्र
पहाड़ी क्षेत्रों और बाजारों से आ रही तस्वीरों को लेकर आईसीएमआर के प्रमुख डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि ये तस्वीरें डराने वाली हैं। लोगों को कोरोना नियमों का पालन करना चाहिए।  सूत्रों के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय ने शिमला और मनाली में कोरोना गाइडलाइंस का बड़े पैमाने पर उल्लंघन करने को लेकर हिमाचल प्रदेश सरकार को पत्र भी लिखा है। सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले 73 जिलों में हैं ।  इनके राज्यों को भी पत्र लिखा गया है। ताकि वह इस पर विचार करे।
ढील मिलते ही अनदेखी हुई शुरू
देश में जैसे ही कोरोना के मामले कम हुए वैसे ही केंद्र और राज्य सरकारों ने पाबंदियों में ढील देना शुरू कर दिया। अनलॉक होते ही लोग अपनी मनमानी करने लगे। बाजार के चारांे तरफ भीड़ दिखने को मिली। हिमाचल प्रदेश में कुल्लू , मनाली और शिमला से जो तस्वीरें सामने आई हैं वह काफी डरावनी है। तस्वीरों को देख ऐसा लग रहा है मानो कोरोना नाम कोई चीज ही ना हो।
कोरोना नियमों को नहीं माना तो ढील होगी खत्म 
जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कोरोना के हालात पर होने वाली नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अभी कोरोना की दूसरी लहर सीमित दायरे में ही है। लेकिन अभी भी कोरोना खत्म नहीं हुआ है। हिल स्टेशनों पर भारी भीड़ का जिक्र कर उन्होंने कहा कि ऐसा करना अब तक के फायदे को कम कर सकता है। यदि प्रोटोकॉल या कोरोना नियमों का पालन नहीं किया जाता है तो हम पाबंदियों में दी गई ढील को फिर से खत्म कर सकते हैं। इस दौरान उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐसी कुछ फोटो भी दिखाई गईं।

Related posts

हमारे शासन में टायर्ड और रिटायर्ड लोगों के लिए कोई जगह नहीं : ठाकुर

Breaking News

उत्तर भारत में ठंड का प्रकोप, जम्मू में टूटा पिछले 23 साल का रिकॉर्ड

Rahul

राज्य मंत्री पंडित सुनील भराला ने 48 वें जन्मदिन के अवसर पर चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में 48 पौधों का रोपण किया

Rani Naqvi