Breaking News featured यूपी

लखनऊ में 5 अगस्त तक बढ़ाई गई धारा 144, बरतें सावधानियां वरना कटेगा चालान

लखनऊ में 5 अगस्त तक बढ़ाई गई धारा 144, बरतें सावधानियां वरना कटेगा चालान

लखनऊः प्रदेश के साथ-साथ राजधानी में भले ही कोरोना का खतरा कम हो गया हो लेकिन प्रशासन तीसरी लहर की कोई संभावन नहीं छोड़ना चाहता है। इसी के चलते राजधानी में कोरोना नियमों में कोताही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी। लखनऊ (Lucknow) में 5 अगस्त तक धारा 144 लगा दी गई है।

थूकने पर कटेगा चालान

राजधानी में धारा 144 का समय बढ़ाने के बाद अब सार्वजनिक स्थलों पर पांच लोगों से अधिक मौजूद होने पर कार्रवाई की जायेगी। इतना ही नहीं, राजधानी में आयोजित शादी समारोह में सिर्फ 50 लोगों की ही परमिश्न मिल पायेगी। सार्वजनिक स्थलों पर थूकने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

मिली जानकारी के मुताबिक लखनऊ में 8 जुलाई से क्षेत्र पंचायत प्रमुख और उपचुनाव के नामांकन किए जायेंगे। 10 जुलाई को मतगणना की जायेगी। वहीं, त्योंहारों की बात करें तो 26 जुलाई तक बकरीद और कांवड़ यात्रा सहित अन्य महत्वपूर्ण त्योहार हैं। इसी के चलते राजधानी लखनऊ में धारा 144 को 5 अगस्त तक बढ़ा दिया गया है।

सोशल मीडिया पर होगी पैनी नजर

सोशल मीडिया (Social Media) पर अफवाहों को लगाम लगाने के लिए प्रशासन ने कहा है कि धारा 144 के दौरान अगर किसी सोशल मीडिया ग्रुप का कोई सदस्य भड़काने वाली पोस्ट या अफवाह फैलाता है तो उसका पूरा उत्तरदायित्व ग्रुप एडमिन पर होगा। ग्रुप एडमिन को तत्काल कंटेट डिलीट कराते हुए संबंधित व्यक्ति को ग्रुप से बाहर करना पड़ेगा और साथ ही स्थानीय पुलिस को सूचना देनी होगी।

चाइनीज मांझे की बिक्री पर रोक

राजधानी में चाइनीज मांझे की बिक्री और खरीददारी पर भी पाबंदी रहेगी। इसका मुख्य कारण इससे होने वाले शारीरिक नुकसान हैं। साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर थूकने से पर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जायेगी और साथ ही जुर्माना वसूला जायेगा। बिना मास्क (Without Mask) के सार्वजनिक स्थलों पर घूमने वालों से भी जुर्माने की वसूली की जायेगी।

बिना मास्क वालों का होगा चालान

लखनऊ के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर पीयूष मोडिया (Piyush Modia) के मुताबिक, राजधानी में 5 जुलाई तक धारा 144 लागू रहेगी। इस दौरान सार्वजनिक स्थलों पर पांच से अधिक लोग एकत्र नहीं होंगे। वहीं, शादी समारोह में भी 50 लोगों से अधिक की परमिश्न नहीं होगी।

Related posts

सांसदों के साथ मोदी ने की लोकसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा

kumari ashu

केदारनाथ के टीजर रिलीज होने के बाद पुजारियों ने कहा फिल्म बैन होनी चाहिए

mahesh yadav

Rakesh Jhunjhunwala: जानिए राकेश झुनझुनवाला के जीवन की कहानी, 5 हजार से की थी शेयर बाजार में शुरुआत, अब है इतनी संपत्ति

Nitin Gupta