बीजेपी के ‘संपर्क फॉर समर्थन अभियान’ में माधुरी से भी मिले अमित शाह

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने केंद्र सरकार की चार साल की उपलब्धियों को गिनाने के लए जानी मानी बॉलीवुड एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित से भी संपर्क किया। आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव को जीतने के लिए अभी से लोगों से जमीनी स्तर पर संपर्क साधना शुरू कर दिया है। जिसका नाम “संपर्क फॉर समर्थन” है। इसी अभियान के तहत अमित शाह ने माधुरी दीक्षित से मुलाकात की है।

 

 

शाह की मुलाकात माधुरी के जुहु स्थित निजी आवास पर हुई। संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत शाह आज गायिका लता मंगेशकर और उद्योगपति रतन टाटा से भी मुलाकात करेंगे। लता मंगेशकर और टाटा से भी उनके घर पर जाकर ही मुलाकात करेंगे। अमित शाह आज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से उनके आवास पर मुलाकात करेंगे।

 

आपको बता दे कि बीजेपी से नाराज चल रहे गठबंधन सहयोगी शिवसेना द्वारा पालघर संसदीय उपचुनाव में अलग प्रत्याशी उतारे जाने की पृष्ठभूमि में शाह और ठाकरे की यह भेंट ज्यादा महत्वपूर्ण हो गयी है। बीजेपी पार्टी का यह कदम अपनी नाराज मित्र पार्टी तक पहुंचने का एक प्रयास है, जो खुलकर उसके वरिष्ठ नेताओं की आलोचना कापी दिनों से कर रही है।

ठाकरे के साथ शाह की यह मुलाकात पार्टी

शिवसेना सांसद संजय राउत के अनुसार अमित शाह ने उद्धव से मिलने के लिए वक्त मांगा है। इसके बाद उन्हें मुलाकात के लिए कल शाम का समय दिया है। उन्होंने चार साल के अंतराल के बाद ठाकरे से मुलाकात की आवश्यकता पर सवाल उठाया। हालांकि बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंतीवार ने कहा कि ठाकरे के साथ शाह की यह मुलाकात पार्टी की देशव्यापी ‘समर्थन के लिए संपर्क अभियान के तहत हो रही है। इसका महाराष्ट्र में पालघर एवं भंडारा-गोंदिया लोकसभा सीटों पर हाल में हुए उपचुनाव से कोई लेना देना नहीं है।

संपर्क फॉर समर्थन

‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत भारतीय जनता पार्टी के लगभग 4000 प्रमुख कार्यकर्ता एक लाख से अधिक प्रतिष्ठित लोगों से व्यक्तिगत संपर्क करेंगे और मोदी सरकार की उपलब्धियों पर उनके साथ चर्चा करेंगे। पार्टी अध्यक्ष से लेकर बूथ स्तर तक, हर पार्टी कार्यकर्ता इस इनिशिएटिव में भाग ले रहे हैं। 4000 प्रमुख कार्यकतार्ओं में केन्द्रीय मंत्री, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उप-मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक, जिला पंचायत सदस्य एवं वरिष्ठ संगठन पदाधिकारी शामिल हैं। इसके अतिरिक्त पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ता प्रधानमंत्री के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार की उपलब्धियों की घर-घर तक जानकारी देंगे।