September 25, 2021 11:23 am
featured दुनिया देश

अगर आप भी मोबाइल पर देखते हैं पोर्न वीडियो, तो हो जाएं सावधान, आप भी हो सकते हैं शिकार

बेतुका बयान- ‘महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध का कारण मोबाइल’
भारत में पोर्नाेग्राफ़ी देखने वाले करोड़ों लोग हैं। मोबाइल इंटरनेट के विस्तार होने से पोर्नाेग्राफ़ी अब पर्सनल मामला हो गया है। आप कहीं भी, कभी भी ऐसे वीडियो देख लीजिये और किसी को पता भी नहीं चलेगा।
आपकी ब्राउज़िंग पर रखी जाती है नजर
आपके मोबाइल सर्विस ऑपरेटर और जो भी ऐप अपने डाउनलोड किये हुए हैं और जो आपकी ब्राउज़िंग पर नज़र रखते हैं उन्हें भी पता चलेगा। इसलिए ये आपके लिए सिक्योरिटी और प्राइवेसी का भी मामला है, जिसको अनदेखी नहीं करना चाहिए।
कंपनियां करती हैं ट्रैक
आपकी ऑनलाइन आदतों को कई कंपनियां ट्रैक करती हैं। इनकी ट्रैकिंग की मदद से कंपनियों को ये पता लगता है कि आपके कैसे विज्ञापन ऑनलाइन दिखाए जाने चाहिए। अगर आपके पोर्न वेबसाइट के बारे में जानकारी किसी को मिल रहा हो तो आपके लिए वो परेशानी का कारण बन सकती है। प्राइवेट ब्राउज़िंग या कुकीज़ डिलीट कर देने से आप ऑनलाइन ट्रैकिंग से बच सकते हैं।
डेटा लीक होने के बाद लाखों लोगों के नाम आए सामने
ऐशले मैडिसन नाम के वेबसाइट के डेटा लीक होने के बाद लाखों लोगों के नाम सामने आये जब लोगों ने ऑनलाइन पोर्न का सहारा लिया। इसमें भारत के भी लोगों के नाम थे। इसके बाद कुछ आत्महत्या के भी मामले सामने आये। कुछ लोगों को ब्लैकमेल का भी सामना करना पड़ा।
पैसे देकर पोर्न देखने वाले लोग
जो लोग पोर्न देखने के लिए पैसे देने को तैयार होते हैं उनपर चोर उचक्कों की भी नज़र होती है। किसी अनजाने वेबसाइट पर अगर आप अपना क्रेडिट कार्ड डिटेल दे देंगे तो आपको पता नहीं उसका कैसे कैसे इस्तेमाल हो सकता है। कभी कभी ऐसे वेबसाइट पर जाने के बाद एक अंजाना सा फ़ाइल आपके कंप्यूटर पर डाउनलोड हो जाता है जो आपके कंप्यूटर को लॉक कर देता है। उसके बाद उन्हें पैसे देने पर ही आपके कंप्यूटर का पासवर्ड मिलता है। इस ब्लैकमेल के तरीक़े को रैनसमवेयर कहते हैं।

Related posts

मप्रः PM ने शहडोल में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर साधा निशाना

mahesh yadav

राजस्थान में कर्ज से तंग आ कर किसान ने की आत्महत्या, परिवार वालों ने शव लेने किया इंकार

Rani Naqvi

सपा बसपा शासन में हुए घोटालों को जनता भूली नहीं : स्वतंत्रदेव सिंह

Shailendra Singh