February 5, 2023 1:12 am
featured धर्म

Karva Chauth 2022: करवा चौथ पर बन रहा दुर्लभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Karwa Chauth 2020 Karva Chauth 2022: करवा चौथ पर बन रहा दुर्लभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Karva Chauth 2022: करवा चौथ आने वाला है, जिसको लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं । करवा चौथ का व्रत सुहागन महिलाएं अपनी पति की लंबी आयु की कामना कर रखती है। करवा चौथ का व्रत कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को व्रत रखा जाता है जो कि इस बार 13 अक्टूबर को हैं।

यह भी पढ़े

Govardhan Puja: दिवाली के दूसरे दिन नहीं मनाई जाएगी गोवर्धन पूजा, जानिए क्या है वजह

करवाचौथ का शुभ मुहूर्त
  • चतुर्थी तिथि आरंभ-13 अक्तूबर 2022 को सुबह 01 बजकर 59 मिनट पर
  • चतुर्थी तिथि का समापन- 14 अक्तूबर 2022 को सुबह 03 बजकर 08 मिनट पर

karva choth Karva Chauth 2022: करवा चौथ पर बन रहा दुर्लभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

पूजा का शुभ मुहूर्त
  • 13 अक्तूबर को शाम 06 बजकर 01 मिनट लेकर शाम 07 बजकर 15 मिनट तक
  • अमृतकाल मुहूर्त- शाम 04 बजकर 08 मिनट से शाम 05 बजकर 50 मिनट तक
  • अभिजीत मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 21 मिनट से दोपहर 12 बजकर 07 मिनट तक

karva choth food Karva Chauth 2022: करवा चौथ पर बन रहा दुर्लभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

करवा चौथ पर चंद्रोदय

13 अक्तूबर को रात 08 बजकर 19 मिनट पर

karva chauth photo Karva Chauth 2022: करवा चौथ पर बन रहा दुर्लभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

पूजा की विधि
  • सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें।
  • स्नान करने के बाद मंदिर की साफ- सफाई कर ज्योत जलाएं।
  • देवी- देवताओं की पूजा- अर्चना करें।
  • निर्जला व्रत का संकल्प लें।
  • इस पावन दिन शिव परिवार की पूजा- अर्चना की जाती है।
  • सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा करें। किसी भी शुभ कार्य से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है।
  • माता पार्वती, भगवान शिव और भगवान कार्तिकेय की पूजा करें।
  • करवा चौथ के व्रत में चंद्रमा की पूजा की जाती है।
  • चंद्र दर्शन के बाद पति को छलनी से देखें।
  • इसके बाद पति द्वारा पत्नी को पानी पिलाकर व्रत तोड़ा जाता है
  • karva chauth 2 Karva Chauth 2022: करवा चौथ पर बन रहा दुर्लभ संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
इस दिन क्या करें, क्या ना करें

करवा चौथ के व्रत पर चंद्रमा के दर्शन के लिए थाली सजाएं। थाली में दीपक, सिंदूर, अक्षत, कुमकुम, रोली और चावल की बनी मिठाई या सफेद मिठाई रखें। संपूर्ण श्रंगार करें और करवे में जल भरकर मां गौरी और गणेश की पूजा करें। चंद्रमा के निकलने पर छन्नी से या जल में चंद्रमा को देखें और अर्घ्य दें।

Related posts

सीएम तीरथ की सौगात: चमोली में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का उद्घाटन

Nitin Gupta

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सेना और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, एक दहशतगर्द ढेर

Breaking News

आंखों पर कुछ ऐसे करें मेकअप, लगेगा परफैक्ट मेकओवर लुक

mohini kushwaha