महोबा: जहर खाने को मजबूर कोरोना वॉरियर्स

महोबा: कोरोना जैसी खतरनाक महामारी के समय भी सफाई कर्मियों ने जी जान से देश की सेवा की, पीएम मोदी ने भी सफाईकर्मियों को कोरोना वॉरियर्स कहा था। लेकिन यह कोरोना वारियर जहर खाने को मजबूर हो रहे है। महोबा जिले में एक सफाई कर्मचारी का वेतन तीन महीनों से नहीं मिला था। वेतन ना मिलने की वजह से सफाईकर्मीं ने जहर खा कर आत्महत्या की कोशिश की है। फिलहाल सफार्ईकर्मीं गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती है।

वेतन ना मिलने से परेशान था सफाईकर्मीं

यूपी के महोबा जिले में वेनत ना मिलने से परेशान सफाई कर्मचारी ने आत्महत्या की कोशिषश की। शुक्रवार को सफाई कर्मचारी ने कलेक्ट्रेट परिसर में जहर खाकर आत्महत्या कोशिश की। जहर खाने से सफाई कर्मचारी की हालत गंभीर बनी हुई है।

मामले के बाद उप जिलाधिकारी सौरभ पांडेय ने जानकारी दी जैतपुर ब्लॉक में एक सफाई कर्मीं ने जहर खाक कर आत्महत्या की कोशिश की थी।

उपजिलाधिकारी ने आगे बताया पिछले तीन महीनों से वेतन ना मिलने से परेशान था। इस वजह से उसने जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की है। अभी सफाईकर्मीं जिला अस्पताल में भर्ती है। डॉक्टरों के मुताबिक सफाईकर्मीं की हालत गंभीर बनी हुई है।

सरकार की कोशिश, सौर उर्जा को मिले बढ़ावा

Previous article

उत्तराखंड: CM पुष्कर की अध्यक्षता में हुई चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड की बैठक, नहीं पहुंचे अनंत अंबानी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured