देश featured यूपी राज्य

अयोध्या में गोली चलवाने के बाद भी 47 सीटों से ज्यादा मिली थी: मुलायम सिंह

mulayam singh yadav,

लखनऊ। सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने बीते बुधवार को अपना 79वां जन्मदिन मनाया है। कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि मुसलमानों ने सपा का साथ नहीं छोड़ा है। पिछले विधानसभा चुनाव में सपा के नेता उनका वोट नहीं डलवा सके। लेकिन आजज भी अगर उनसे वोट डलावा दिया जाए तो आज भी मुसलमान सपा को ऐसे ही वोट देंगे जैसे पहले देते थे। जितने मुसलमानों ने वोट दिया उनमें से 90 प्रतिशत लोगों ने सपा को वोट दिए हैं। मुलायम ने ने मुस्लिमों के वोटों पर अपना हक जताते हुए कहा कि अगर वो अयोध्या में मस्जिद नहीं बचाते तो ठीक नहीं होता क्योंकि उस वक्त कई लोगों ने हथियार उठा लिए थे। कार्यक्रम में अखिलेश भी मौजूद थे।

mulayam singh yadav,
mulayam singh yadav,

बता दें कि मुसलमानों को लेकर मुलायम का कहना है कि आज भी मुसलमानों की सहानुभूति उनके साथ है। लेकिन आप कैसे ठीक करोगे, बूध कैसे चलवाओंगे। उनकी मुसीबत में साथ देकर सपा संस्थापक ने कहा कि 1990 में अपने मुख्यमंत्रित्व काल में देश की एकता के लिए कारसेवकों पर गोलिया चलवाई। उसमें 28 लोग मारे गये। अगर और मारने होते तो हमारे सुरक्षाबल और मारते उन्होंने दावा करते हुए कहा कि हम आपको गोपनीय बात रहे हैं। अगर हम मस्जिद नहीं बचाते तो उस वक्त कई मुसलमानों ने हथियार उठा लिए थे। उन्होंने कहा कि जब हमारा पूजास्थल नहीं रहेगा तो देश हमारा है कैसे इन सवालों को समझना होगा।

वहीं 2017 के विधानसभा चुनाव में सपा को महज 47 सीटें मिलने को ‘शर्म की बात’ करार देते हुए उन्होंने कहा कि अयोध्या में गोली चलवाने के बाद भी 1993 के विधानसभा चुनाव में सपा 105 सीटें जीत गई थी और फिर उसकी सरकार बन गई थी। उस वक्त सपा के नौजवान कार्यकर्ता जैसे थे, आज उन जैसे नौजवानों की कमी है। कई तो अपने गांव के बूथ नहीं जिता सकते।

Related posts

‘आईआरसीटीसी’ द्वारा टिकट बुकिंग से संबंधित नियमों के बारे में जानें सब कुछ..

mahesh yadav

यहां जानें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’

bharatkhabar

कैबिनेट विस्तार से पहले 12 मंत्रियों का इस्तीफा, हर्षवर्धन-अश्विनी चौबे ने भी दिया इस्तीफा

pratiyush chaubey