November 30, 2021 8:06 am
featured देश राज्य

महबूबा मुफ्ती ने पार्टी का पुनर्गठन किया,पूर्व उपाध्यक्ष सरताज मदनी को नहीं मिली कोई जगह

महबूबा मुफ्ती ने पार्टी का पुनर्गठन किया,पूर्व उपाध्यक्ष सरताज मदनी को नहीं मिली कोई जगह

नई दिल्ली: पीडीपी प्रमुख तथा जम्मू- कस्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने रविवार को पार्टी का पुनर्गठन किया है। खास बात यह है कि इसमें महबूबा के मामा और पूर्व उपाध्यक्ष सरताज मदनी को कोई जगह नहीं दी गई है। इनके खिलाफ ही पार्टी में सबसे अधिक विरोध था। पार्टी के बागी विधायकों ने खुलेआम इन पर आरोप लगाए थे। विधायकों के बागी तेवर को देखते हुए सरताज मदनी ने पिछले दिनों सबसे पहले इस्तीफा दिया था। उस समय यह चर्चा थी कि महबूबा ने उनका इस्तीफा मांग लिया है। इसके बाद सभी पदाधिकारियों ने इस्तीफे दे दिए थे।

 

jk 1 महबूबा मुफ्ती ने पार्टी का पुनर्गठन किया,पूर्व उपाध्यक्ष सरताज मदनी को नहीं मिली कोई जगह

 

ये भी पढें:

दिल्ली: जल्द ही बदल सकता है रामलीला मैदान का नाम, अटल के नाम पर रखने का प्रस्ताव
राफेल विमान सौदे को लेकर कांग्रेस 8 से 15 सितंबर के बीच दिल्ली में करेगी प्रदर्शन

पार्टी प्रवक्ता के मुताबिक पुनर्गठन में नए उपाध्यक्ष को नामित करने के साथ ही पांच महासचिव बनाए गए हैं। वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री अब्दुल रहमान वीरी को उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी गई है। पूर्व मंत्री गुलाम नबी लोन हंजूरा व अब्दुल हक खान, महबूब इकबाल, एमएलसी सुरिंदर चौधरी व एफसी भगत को महासचिव बनाया गया है।

 

इसके साथ ही जहूर अहमद मीर, आशिया नकाश, मोहम्मद युसूफ भट, राजा एजाज अली, बशीर अहमद रौनयाल, मारूफ खान, नूर मोहम्मद भट, अमरीक सिंह रीन, अब्दुल मजीद, सैमुल्लाह, शाह मोहम्मद तांत्रे, दीपक हांडा व अब्दुल रशीद मलिक को राज्य सचिव की जिम्मेदारी दी गई है। पूर्व वित्त मंत्री सैयद अल्ताफ बुखारी को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। रफी अहमद मीर को दोबारा मुख्य प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी दी गई है।

 

ये भी पढें:

हरियाणा के मिर्चपुर कांड को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा फैसला,20 दोषियों को सुनाई गई उम्रकैद की सजा
दिल्ली सरकार के कार्यक्रम में शरीक होने के चलते शत्रुघ्न सिन्हा को विरोध का सामना करना पड़ा

 

By: Ritu Raj

Related posts

गुरु पूर्णिमा 2018-ऐसे करें शुभ मुहूर्त में पूजा, मिलेगी कष्टों से मुक्ति

mohini kushwaha

उत्तराखंड के सरकारी डिग्री काॅलेजों को हाई स्पीड इंटरनेट देना वाला देश का पहला राज्य बना उत्तराखंड

Samar Khan

महाराष्ट्र: कोल्हापुर में नदी में गिरी बस, 13 की मौत, तीन

Rani Naqvi