4bab5d63 6451 45fd 82e0 2b761bda55d5 किसानों के मुद्दों को लेकर गर्माया रानीतिक गलियारा, जानिए क्यों सीएम मनोहरलाल खट्टर ने कही राजनीति छोड़ने की बात
फाइल फोटो

नई दिल्ली। कृषि कानून के विरोध में किसानों द्वारा आए दिन धरने प्रदर्शन किए जा रहे हैं। यह सिलसिला तब से शुरू हुआ जब केंद्र सरकार ने कृषि कानून पास कर दिया। अब यह प्रदर्शन उग्र रूप ले चुका है। क्योंकि पंजाब सहित अन्य राज्यों के लोगों ने दिल्ली में कूच करना शुरू कर दिया है। जिसके दिल्ली में जानें वाले बॉर्डर पर भारी मात्रा में पुलिस मुस्तेद हो चुकी है। किसानों पर पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले और पानी का प्रेशर डलवाया जा रहा है। इसी बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री ने अमरिंदर सिंह के खिलाफ बोलते हुए कहा कि एमएसपी को लेकर किसी तरह की परेशानी किसानों को झेलनी पड़ेगी तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

निर्दोष किसानों को उकसाना बंद करें कैप्टन अमरिंदर सिंह

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बीच किसनों के मुद्दों को लेकर जुबानी जंग तेज हो गई है। अपने हालिया बयान में हरियाणा के मुख्यमंत्री ने अमरिंदर सिंह के खिलाफ बोलते हुए कहा कि एमएसपी को लेकर किसी तरह की परेशानी किसानों को झेलनी पड़ेगी तो वह राजनीति छोड़ देंगे। मनोहर लाल खट्टर ने ट्टीट की एक शृंखला में कैप्टन अमरिंदर सिंह से कहा, कैप्टन जी, मैंने इसे पहले कहा है और मैं इसे फिर से कह रहा हूं, मैं राजनीति छोड़ दूंगा अगर एमएसपी पर किसानों को कोई परेशानी होगी। इसलिए निर्दोष किसानों को उकसाना बंद करें।

आपके झूठ, धोखे और प्रॉपगेंडा का वक्त खत्म- खट्टर 

इसी के साथ मनोहरलाल खट्टर ने कहा कि आपके झूठ, धोखे और प्रॉपगेंडा का वक्त खत्म हो गया है। वक्त आ गया है कि लोग अब अपका असली चेहरा देखें। कृपया कोरोना महामारी के दौरान लोगों के जीवन को खतरे में डालना बंद करें। मैं आपसे लोगों के जीवन के साथ नहीं खेलने का आग्रह करता हूं। कम से कम महामारी के समय सस्ती राजनीति से बचें। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा, ”मैं पिछले 3 दिनों से आपसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूं, लेकिन दुख की बात है कि आपने संपर्क साधने का फैसला ही नहीं किया है। क्या यह किसान के मुद्दों के लिए आपकी गंभीरता नहीं दिखाता? आप केवल ट्वीट कर रहे हैं और बातचीत से भाग रहे हैं. आप ऐसा क्यो कर रहे हैं?”

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

किसानों के प्रोटेस्ट से बवाल, कहीं आंसू गैस के गोले तो कहीं पानी की बौछार

Previous article

‘पत्थर के फूल’ फिल्म में खुद का ही शूट किया हुआ सीन देखकर आखिर क्यों रोने लगी थी रवीना टंडन?

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.