featured देश

लोस चुनावः ‘आप’ के उम्मीदवार हो सकते हैं यशवंत सिन्हा

लोस चुनावः ‘आप’ के उम्मीदवार हो सकते हैं यशवंत सिन्हा

आम आदमी पार्टी (आप) के टिकट पर 2019 लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं यशवंत सिन्हा, इसकी  घोषणा जल्द ही हो सकती है।आपको बता दें कि दिल्ली में सात लोकसभा सीटें हैं। मिली जानकारी के मुताबिक ‘आम आदमी पार्टी’ सिन्हा को नई दिल्ली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाने पर विचार कर रही है।पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा 2019 लोकसभा चुनाव में ‘आम आदमी पार्टी’ के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं।  इसस बाबत जल्द ही घोषणा हो सकती है।

 

लोस चुनावः ‘आप’ के उम्मीदवार हो सकते हैं यशवंत सिन्हा
लोस चुनावः ‘आप’ के उम्मीदवार हो सकते हैं यशवंत सिन्हा

 

इसे भी पढ़ेः  कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान एक जरूरी तीसरा पक्ष- यशवंत सिन्हा

बीते रोज ‘आप’ ने चुनावी अभियान की शुरुआत के लिए नोएडा में रैली का आयोजन किया था।बता दें कि रैली में बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा ने भी भाग लिया था।वहीं ‘आप’ संयोजक केजरीवाल ने रैली में कहा कि यशवंत सिन्हा जैसे अच्छे लोगों को चुनाव लड़ना चाहिए।खबर है कि ‘आम आदमी पार्टी’ ने सिन्हा को नई दिल्ली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाने की सहमति बनाई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर का पार्टी से निलंबन किया रद्द

आदमी पार्टी की जन अधिकार रैली में केजरीवाल ने सिन्हा से लोकसभा चुनाव लड़ने का अनुरोध किया

शनिवार को यशवंत सिन्हा की मौजूदगी में नोएडा में आम आदमी पार्टी की जन अधिकार रैली में केजरीवाल ने सिन्हा से लोकसभा चुनाव लड़ने का अनुरोध किया।केजरीवाल ने सिन्हा की तारीफ करते हुए कहा, ‘आप कह चुके हैं कि आप चुनाव नहीं लड़ेंगे’ लेकिन अगर आप जैसे अच्छे लोग चुनाव नहीं लड़ेंगे तो फिर कौन लड़ेगा? बाद में केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से सवाल किया कि ‘आप बताइये कि यशवंत सिन्हा को चुनाव लड़ना चाहिए या नहीं?’हालांकि सिन्हा ने केजरीवाल की पेशकश का कोई जवाब नहीं दिया है। लेकिन सिन्हा ने केजरीवाल की सराहना जमकर की है।

‘आप’ संयोजक की तारीफ में कहा वह राजनीति की दिव्य प्रकाश पुंज हैं

सिन्हा ने जहां एक तरफ बीजेपी पर हमला बोला वहीं ‘आप’ संयोजक की तारीफ में कहा वह राजनीति की दिव्य प्रकाश पुंज हैं। सिन्हा ने बीजेपी को कोसते हुए कहा कि “देश की राजनीति बदल रही है, और चारों तरफ झूठ बोला जा रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मीडिया पर केंद्र सरकार का नियंत्रण है।देश के सर्वोच्च पद पर बैठा हुआ आदमी झूठ बोल रहा है. और ऐसा जानबूझ कर कर रहा है।” सिन्हा ने कहा कि अब भारत की जनता झूठ को बर्दाश्त नहीं करेगी।

21 अप्रैल को यशवंत ने बीजेपी से अलग होने का ऐलान किया था

मालूम हो कि लंबे समय तक बीजेपी में रहने के बाद इस वर्ष 21 अप्रैल को यशवंत ने बीजेपी से अलग होने का ऐलान किया था। पार्टी छोड़ने से पहले से ही सिन्हा कई अवसरों पर मोदी सरकार की आलोचना कर चुके हैं।पार्टी छोड़ते वक्त ‘सिन्हा ने कहा था कि मैं चुनावी राजनीति से संन्‍यास ले रहा हूं’ और भारतीय जनता पार्टी से स भी रिश्ते तोड़ रहा हूं।

महेश कुमार यदुवंशी

Related posts

दिन दहाड़े युवक के सिर पर चाकू गाड़ कर आरोपी फरार, वीडियो वायरल

Mamta Gautam

प्रवीण तोगड़िया के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प, पुलिस ने किया लाठी चार्ज

mahesh yadav

भरूच में बरसे राहुल, ‘उद्योगपतियों के हाथ में सड़कें लेकिन नहीं दिखती एक नैनो कार’

Pradeep sharma