खेल

आईएसएल : चेन्नयन से ड्रॉ खेल शीर्ष-4 में पहुंचा कोलकाता

isl 7 आईएसएल : चेन्नयन से ड्रॉ खेल शीर्ष-4 में पहुंचा कोलकाता

चेन्नई। मौजूदा चैम्पियन चेन्नइयन एफसी के इतालवी स्ट्राइकर डेविड सुची रविवार को इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के मैच में एटलेटिको डी कोलकाता को 1-1 से ड्रॉ पर रोकने में तो सफल रहे, लेकिन कोलकाता को शीर्ष-4 में पहुंचने से वे नहीं रोक सके। सुची ने मैच के 77वें मिनट में शानदार गोल करते हुए इस सीजन में टीम के 11वें मैच में कोलकाता को बराबरी पर रोक दिया। जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए इस मैच में परिणाम ड्रॉ रहने के बाद दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला। इस मैच के बाद कोलकाता के 15 अंक हो गए हैं और वह आठ टीमों की अंक तालिका में तीसरे स्थान पर आ गया। एफसी पुणे सिटी और केरला ब्लास्टर्स के भी 15-15 अंक हैं, लेकिन कोलकाता बेहतर गोल अंतर के चलते उनसे ऊपर है। वहीं चेन्नई एक अंक मिलने के बावजूद छठे स्थान पर कायम है। उसके 14 अंक हैं। चेन्नई को हालांकि इस बात की राहत जरूर होगी कि इस ड्रॉ के चलते उसकी उम्मीदें अभी भी कायम हैं।

isl

मैच का पहला गोल कोलकाता के हेल्डर पोस्टीगा ने किया। 39वें मिनट में ग्रानाडे ने प्रतीम कोटल को गेंद पास की, जिसे उन्होंने बॉक्स के अंदर खेला। पोस्टीगा ने इस पर शानदार हेडर लगाते हुए अपनी टीम को बढ़त दिलाई। पहले हाफ के बाद कोलकाता के पास बढ़त थी। दूसरे हाफ में भी कोलकाता ने अपना शानदार खेल जारी रखा। चेन्नई ने कई बार गोल करने की कोशिश की, लेकिन उनके खिलाड़ी मौकों का फायदा नहीं उठा पाए। सुचि के पास एक गोल करने का मौका मैच के 59वें मिनट में भी मिला। जाकिर मुड्मपारा ने डेविड सुची को गेंद पास की। सुची गेंद लेकर कोलकाता के बॉक्स में पहुंच गए, लेकिन चेन्नई का कोई खिलाड़ी सुची का साथ देने नहीं था।

कोलकाता के डिफेंस खासकर अर्णब मंडल चेन्नई की आक्रमण पंक्ति के आगे अटल बनकर खड़े रहे। चेन्नई को दूसरे हाफ में एक कॉर्नर मिला, लेकिन वह गोलपोस्ट में गेंद नहीं डाल सके। इसी बीच कोलकाता के स्टीफन पॉल पियरसन ने गेंद पर कब्जा जमाया, लेकिन वह गेंद को ज्यादा देर अपने पास रख नहीं सके और एली साबिया ने गोल लाइन पर गेंद उनसे छीनते हुए सुची को पास कर दी। सुची ने इस पास पर शानदार हेडर के जरिए गेंद को गोलपोस्ट की राह दिखा दी और स्कोर 1-1 कर दिया।

Related posts

टेस्ट सीरीज हारने के बावजूद भी ICC रैंकिंग में भारत टॉप पर

mahesh yadav

बीसीसीआई विश्व क्रिकेट के विकास में मदद को हमेशा तैयारः ठाकुर

Rahul srivastava

विनोद मलिक का विजेता की तरह हुआ स्वागत, तकनीकी कारणों की वजह से नहीं जीत पाए कास्य पदक

Rani Naqvi