featured यूपी

जानिए अलग-अलग राशियों में किस रंग से खेलें होली

विभिन्न राशि वाले कैसे खेले होली

लखनऊ: होली रंगों का त्योहार है जिसमें कई तरह के रंग इस्तेमाल किए जाते हैं। हर एक रंग का अपना विशेष महत्त्व है। शास्त्रों के अनुसार अलग-अलग राशियों के लिए रंग भी अलग होते हैं. ऐसे में हमें अपनी राशियों के आधार पर होली के रंग खेलने चाहिए।

12 राशियों में इन रंगों का करें इस्तेमाल
  • मेष: सबसे पहले मेष राशि की बात करें तो इस राशि के जातक लाल और पीले रंग का इस्तेमाल होली में कर सकते हैं।
  • वृषभ: दूसरी राशि है वृषभ, इस राशि से जुड़े हुए लोगों को लाल रंग और केसरिया रंग से होली खेलनी चाहिए।
  • मिथुन: मिथुन राशि के लोगों को होली के दौरान प्रसन्न मन से केसरिया, पीला और हरे रंग का इस्तेमाल करते हुए होली खेलनी चाहिए।
  • कर्क: चौथी राशि है कर्क राशि राशि के लोगों को होली खेलते समय पीला और लाल रंग का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • सिंह: सिंह राशि के जातक होली में लाल और केसरी रंग का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका प्रयोग उनकी होली को और शुभ बना देगा।
  • कन्या: कन्या राशि के जातक हरा केसरिया और लाल रंग का इस्तेमाल करते हुए होली खेल सकते हैं।
  • तुला: तुला राशि से जुड़े सभी जातक होली में लाल और हरे रंग का प्रयोग करके अपनी होली को और खुशहाल बना सकते हैं।
  • वृश्चिक: वृश्चिक राशि के लोगों को इस वर्ष होली खेलते समय लाल और केसरिया रंग का विशेष इस्तेमाल करना चाहिए।
  • धनु: होली में वैसे भी चेहरे पर प्रसन्नता बनी रहती है, इसी प्रसन्नता को और बढ़ाने के लिए धनु राशि के लोग लाल और पीले रंग का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • मकर: मकर राशि के लोगों को इस वर्ष होली खेलते समय पीले और केसरी रंग का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • कुंभ: कुंभ राशि के लोगों को भी होली में पीला और केसरिया रंग का इस्तेमाल करना चाहिए, यह उनके लिए शुभ होगा।
  • मीन: मीन राशि के लोगों को पीला और लाल रंग का इस्तेमाल बहुत ही लाभकारी होगा।
कुछ विशेष बातों का रखें ध्यान

वैसे तो होली में हमें रंग खेलते समय कई सावधानियों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इनमें अपनी आंखों और त्वचा को हानिकारक रंगों से बचाने पर ध्यान देना चाहिए।

कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक रंगों का इस्तेमाल हो या फिर सबसे बेहतर तरीका है, गुलाल से होली खेली जाए। शास्त्रों के अनुसार होली में काला, नीला और बैगनी रंग का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। सामान्य जानकारी भी यही कहती है, क्योंकि इन रंगों को साफ करने में भी बड़ी दिक्कत हो जाती है।

Related posts

पत्रकार हत्याकांड: 2 से पूछताछ, राहुल गांधी के आरोप बेबुनियाद- नितिन गडकरी

Pradeep sharma

फतेहपुर: पुस्तैनी जमीन से ग्रामीणों को बेदखल करने में जुटा प्रधान, जानिए क्या है मामला

Aditya Mishra

लखनऊः वजीरगंज में तीन मंजिला इमारत गिरी, मलबे में दबने से एक युवक की मौत

Shailendra Singh