September 30, 2022 9:33 pm
featured धर्म भारत खबर विशेष

मौनी अमावस्या 2020: जाने मौनी अमावस्या के बारे कुछ खास बातें, कब करें दान और किस वक्त करें स्नान

moni amavasiya मौनी अमावस्या 2020: जाने मौनी अमावस्या के बारे कुछ खास बातें, कब करें दान और किस वक्त करें स्नान

नई दिल्ली। माघ मास के सबसे प्रमुख स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर स्नान-दान का क्रम गुरुवार मध्य रात्रि के बाद से शुरू हो गया। व्रत व स्नान दान की अमावस्या का मान शुक्रवार को आधी रात के बाद तक रहेगा। इस दिन अक्षय पुण्य की कामना के लिए लाखों श्रद्धालु व कल्पवासी यथाशक्ति अन्न, वस्त्र, द्रव्य व गोदान करेंगे। शास्त्रों के अनुसार सतयुग में जो पुण्य तप से, द्वापर में हरि भक्ति से, त्रेता में ज्ञान से, कलियुग में दान से मिलता है उतना पुण्य इस दिन प्रयाग में स्नान-दान से मिलता है।

उत्थान ज्योतिष संस्थान के निदेशक पं. दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार अमावस्या तिथि 23 जनवरी गुरुवार को रात 1:41 बजे शुरू हो गयी है। इसका मान 24 जनवरी शुक्रवार को रात 2:06 बजे तक रहेगा। इस दिन स्नान-दान का मुहूर्त भोर से रात तक रहेगा। ज्योतिषाचार्य अवध नारायण दुबे के अनुसार स्नान-दान का विशेष पुण्यकाल सुबह 4 बजे से सुबह 7 बजे तक रहेगा। 

पूर्वांचली के अनुसार इस बार मकर राशि में मौनी अमावस्या पर चतुष्ग्रहीय योग बन रहा है। शनि, सूर्य व बुध के साथ चंद्रमा शुक्रवार सुबह 7.18 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगे। शुक्र कुम्भ राशि में उच्च स्थिति में हैं। वृश्चिक में मंगल और देव गुरु वृहस्पति धनु राशि में रहेंगे।  ग्रहों की इस शुभता से स्नान-दान का फल कई गुना बढ़ जाएगा। 

प्राकृतिक व योग चिकित्सक डॉ. टीएन पांडेय के अनुसार मौन की उत्पत्ति मुनि शब्द से हुई है। इसलिए मौनी अमावस्या को मुनि जैसा आचरण करने का अवसर मिलता है। डॉ. राजेश मिश्र के अनुसार मान्यता है कि मौनी अमावस्या पर भीड़ अधिक रहती है इसलिए मौन रहकर स्नान करने से सकुशल स्नान संपन्न होने का माध्यम भी है। इसलिए ऋषियों द्वारा मौन-व्रत रहने का विधान किया। इस दिन स्नान से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है

Related posts

केंद्र सरकार ने दी दलहन कारोबारियों को स्टॉक लिमिट में राहत

Shailendra Singh

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक पहुंचना हुआ आसान, पीएम मोदी ने 8 ट्रेंनो को दिखाई हरी झंडी

Aman Sharma

क्योंकि ’किडनी पर किसी धर्म का ठप्पा नहीं होता…

Rahul srivastava