January 31, 2023 6:19 am
featured दुनिया देश

तिनसुकिया में 28 घंटे से जारी है फायरिंग, सेना और उग्रवादियों के बीच लगातार हो रही मुठभेड़

indian army तिनसुकिया में 28 घंटे से जारी है फायरिंग, सेना और उग्रवादियों के बीच लगातार हो रही मुठभेड़

 

तिनसुकिया में सेना और उल्फा के उग्रवादियों के बीच भीषण मुठभेड़ चल रही है। मिली जानकारी के अनुसार दोनों पक्षों की ओर से पिछले 28 घंटों से गोलीबारी जारी है।

 

यह भी पढ़े

ज्ञानवापी फैसले से पहले काशी विश्वनाथ मंदिर से पकड़े गए तीन संदिग्ध, पूछताछ जारी

 

हालांकि घटनास्थल पर बड़ी संख्या में उग्रवादियों के छिपे होने की आशंका है। पूरे इलाके को सील कर दिया गया है और अतिरिक्त फोर्स की तैनाती की गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस को उग्रवादियों के छिपे होने की गुप्त सूचना मिली थी। सर्च ऑपरेशन के लिए पहुंचे सुरक्षाबलों पर उग्रवादियों ने गोली चलानी शुरू कर दी। जिसका जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। पिछले 28 घंटे से दोनों तरफ से रूक – रूक कर फायरिंग हो रही है। कयास लगाए जा रहें हैं कि उग्रवादियों के पास भारी मात्रा में हथियार मौजूद है। असम का तिनसुकिया जिला उग्रवादी गतिविधियों को लेकर हमेशा से संवेदनशील रहा है।

FZ2TmTyUUAY4TQ3 तिनसुकिया में 28 घंटे से जारी है फायरिंग, सेना और उग्रवादियों के बीच लगातार हो रही मुठभेड़

आपको बता दें कि इससे पहले इसी साल जुलाई में तिनसुकिया जिले के काकोपथार के माजगांव में सुरक्षा बलों और उल्फा के उग्रवादियों बीच मुठभेड़ हुआ था। जिसमें एक उग्रवारी मारा गया था। इस दौरान सेना की गोली से दो और उग्रवादी घायल हुए थे लेकिन वे मौके से फरार होने में कामयाब रहे। दरअसल, पुलिस को एक गांव में कुछ उग्रवादियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची असम रेजीमेंट और पुलिस की संयुक्त टीम पर उग्रवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी। मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से भारी मात्रा में हथियार बरामद किया था, जिसे छोड़कर उग्रवाद भाग गए थे।

army on loc तिनसुकिया में 28 घंटे से जारी है फायरिंग, सेना और उग्रवादियों के बीच लगातार हो रही मुठभेड़

जानिए क्या है उल्फा

यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम यानि उल्फा एक प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन है। जिसकी स्थापना 1979 परेश बरूआ ने की थी। इसका मकसद सशस्त्र संघर्ष के जरिए असम को भारत से अलग कर एक संप्रभु और स्वायत्त राज्य बनाना था। बाद के दिनों में इसी संगठन से टूटकर एक अलग संगठन उल्फा (आई) बना। जिसने अब तक असम में कई बड़े आतंकी हमलों को अंजाम दिया है।

army in krishna ghati तिनसुकिया में 28 घंटे से जारी है फायरिंग, सेना और उग्रवादियों के बीच लगातार हो रही मुठभेड़

Related posts

दिल्ली में मनोज की रैली को सपना चौधरी ने किया प्रमोट, पुलिस ने जनता पर भांजी लाठियां

bharatkhabar

कश्मीर में लगे आतंकियों की तस्वीरों के साथ ईद मुबारक के पोस्टर

Pradeep sharma

सीएम योगी ने किया ‘ब्रज रज महोत्सव’ का शुभारंभ, संतों के साथ किया भोजन

Saurabh