January 21, 2022 10:53 am
featured देश

2027 में भारत को मिलेगी पहली महिला मुख्य न्यायाधीश, जस्टिस बी वी नागरत्ना के नाम पर लगी मुहर

2027 में भारत को मिलेगी पहली महिला मुख्य न्यायाधीश 2027 में भारत को मिलेगी पहली महिला मुख्य न्यायाधीश, जस्टिस बी वी नागरत्ना के नाम पर लगी मुहर

भारतीय न्याय व्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी के लिए आज का दिन बेहद खास रहा है । देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज जस्टिस बी वी नागरत्ना सहित आठ अन्य जजों की नियुक्ति के लिए सुप्रीम कोर्ट को मंजूरी दे दी । राष्ट्रपति के इस निर्णय के बाद 2027 के बाद जस्टिस बी वी नागरत्ना की भारत की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति हो सकती है । जजों की इस लिस्ट में  महिला जस्टिस हिमा कोहली और जस्टिस बेला त्रिवेदी भी शामिल है ।

कौन है जस्टिस बी वी नागरत्ना 

जस्टिस बी वी नागरत्ना कर्नाटक हाई कोर्ट की जज और पूर्व मुख्य न्यायाधीश ईएस वेंकटरमैया की पुत्री हैं।  ईएस वेंकटरमैया जून 1989 से दिसंबर 1989 में देश के प्रधान न्यायाधीश के पद पर रहे चुके है । जस्टिस बी वी नागरत्ना ने  वकालत की शुरुआत कर्नाटक में 1987 में बार काउंसलिंग में नामांकन करने के बाद संवैधानिक एवं वाणिज्य कानून के विषय से की । इसके बाद इन्हें 2008 में कर्नाटक में अतिरिक्त न्यायाधीश का पद मिला । फिर 2010 में स्थाई तौर पर हाई कोर्ट की जज के रूप में जस्टिस बी वी नागरत्ना की नियुक्ति हुई ।

सुप्रीम कोर्ट में केवल एक महिला जज

वर्तमान समय में सुप्रीम कोर्ट में केवल एकमात्र महिला न्यायाधीश है जस्टिस इंदिरा बैनर्जी है जो 2022 में रिटायर हो जाएंगी । आपको बता दें अभी तक सुप्रीम कोर्ट में केवल 8 महिला न्यायधीश हुई । और अभी तक भारत में एक भी महिला मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति नहीं जिसको लेकर पिछले कई समय से मांग उठ रही है । इस साल अप्रैल में पूर्व मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने कहा था कि भारत में अब महिला मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति का समय आने वाला है 

 

Related posts

कोरोना अपडेट : भारत में बीते 24 घंटे में सामने आए 18,987 नए मामले, 246 की हुई मौत

Neetu Rajbhar

उत्तराखण्ड के देहरादून में हुई झमाझम बारिश, 210 सड़कें बंद

Ravi Kumar

नगालैंड के उप-मुख्यमंत्री वाई.पैटन ने केन्द्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह से मुलाकात की

bharatkhabar