साइन्स-टेक्नोलॉजी

धरती पर किस पक्षी की कितनी आबादी, जानकर दंग रहे जाएंगे?

world sparrow 1 धरती पर किस पक्षी की कितनी आबादी, जानकर दंग रहे जाएंगे?

जिस तरह से इंसानों की गणना होती है। उसी तरह से पक्षियों की गणना होती है। क्या आपको पता है कि धरती पर कितने पक्षी हैं। और किस प्रजति के पक्षी की कितनी आबादी है। अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि क्या पक्षियों की भी गणना होती है। जी हां इंसनों की ही तरह पक्षियों की भी गणना होती है। और इनकी आबादी को पता लगाया जा सकता है। इसके अलावा ये भी जानकारी जुटाई जाती है कि किस प्रजाति के पक्षी दुनिया में सबसे ज्यादा हैं। आप हैरान हो जाएंगे ये जानकर एक ऐसे पक्षी की आबादी दुनिया में सबसे ज्यादा है, जो आजकल हमें मुश्किल से देखने को मिलती है। इसे लेकर कई रिसर्च भी हुए लेकिन आबादी तो है।

इस धरती पर कुल मिलाकर 5000 करोड़ पक्षी रहते हैं। लेकिन इन पक्षियों में सिर्फ चार प्रजातियां ही ऐसी हैं जो इस पूरी आबादी का ज्यादा हिस्सा बनाती है। क्योंकि अधिकतर पक्षियों की प्रजातियां दुर्लभ हो रही है। इसके अलावा कुछ प्रजातियां गायब होने की भी कगार पर हैं। जिन चार प्रजातियों के पक्षी सबसे ज्यादा हैं- उनमें पहले स्थान पर है घरेलू गौरैया दूसरे नंबर पर यूरोपियन स्टारलिंग्स और तीसरे नंबर पर है रिंग-बिल्ड गुल्स और चौथे पर है बार्न स्वैलोस हैं। इन चारों प्रजातियों की आबादी 1000 करोड़ से ज्यादा है.

वहीं, दूसरी तरफ 1180 प्रजातियां ऐसी हैं, जिनमें हर एक में करीब 5000 पक्षी ही बचे हैं। यानी ये दुर्लभ हैं या फिर इनकी प्रजाति खत्म होने के कगार पर है। ऑस्ट्रेलिया स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ वेल्स के पोस्ट-डॉक्टोरल फेलो कोरी कैलेगन ने पक्षियों की आबादी की गणना की है। कोरी ने बताया कि प्रकृति हमेशा दुर्लभ प्रजातियों से ज्यादा प्यार करती है। इसलिए उनके संरक्षण की व्यवस्था खुद कर देती है। कई दुर्लभ पक्षी अमेजन जैसे दुनिया के कई जंगलों में रहते हैं।

कोरी और उनके साथियों ने जो रिसर्च की उसमें पता चला कि धरती पर हर इंसान के ऊपर छह पक्षी हैं। इससे पहले पक्षियों की प्रजातिवार आबादी की गणना 24 साल पहले हुई थी। तब बताया गया था कि इनकी आबादी 20 से 40 हजार करोड़ के बीच है। ये आंकड़े बहुत ज्यादा थे। जबकि इस बार की गणना में काफी कम पक्षी गिने गए हैं।

Related posts

क्या फ्रा‍ॅड कर रहा था पेटीएम, जानें गूगल ने प्ले स्टोर से क्यों हटाया?

Trinath Mishra

फाइजर के CEO बोले- कोरोना से बचने लिए हर साल लगानी पड़ सकती है वैक्सीन

pratiyush chaubey

नासा ने किया तबाही की तरफ इशारा, पृथ्वी पर बढ़ रहा मैग्नेटिक फील्ड का खराब हिस्सा..

Rozy Ali