Fitness Food Life Style लाइफस्टाइल हेल्थ

आपके शरीर में आ रहे बदलाव, तो ऐसे करें पहचान

ladies2 आपके शरीर में आ रहे बदलाव, तो ऐसे करें पहचान

आज की इस भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इंसानअपने आप के लिए समय निकालना भूल गया है। जिससे लोग काम उम्र में बीमारियों का शिकार हो जाते हैं ।

यह भी पढ़े

48 साल की उम्र में मलाइका ने पहनी एनिमल प्रिंट बिकिनी, समंदर में की मस्ती

 

आज के समय में थायराइड एक ऐसी बीमारी बन चुकी है जिससे आज दुनिया का हर पांचवां व्यक्ति प्रभावित है। हालांकि पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में ये समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। थायराइड हार्मोन हमारे शरीर के कई जरूरी फंक्शन्स के लिए जिम्मेदार होता है। इस वजह से इसकी कम या ज्यादा मात्रा सेहत को बुरी तरह से प्रभावित करने लगती है।

 

थायराइड की समस्या

1. हाइपर थायराइड

इसमें थायराइड हार्मोन बहुत ज्यादा मात्रा में बनने लगता है जिससे शरीर का वजन तेजी से कम होने लगता है।

2.हाइपो थायराइड

इसमें थायराइड हार्मोन कम मात्रा में बनता है। जिससे पाचन तंत्र संबंधी गड़बड़ियां शुरू हो जाती हैं और मोटापा भी बढ़ने लगता है।

थायराइड हॉर्मोन के लक्षण

थायराइड हॉर्मोन के असंतुलित होने की वजह से बाल तेजी से झड़ते हैं। सिर ही नहीं आइब्रोज़ के बाल भी कम होने लगते हैं।

रातभर की पूरी नींद लेने के बाद भी दिनभर थकान का एहसास होते रहता है और कमजोरी भी लगती रहती है।

बेवजह की चिंता और तनाव

थायराइड हार्मोन के अंसतुलन की वजह से मोटापा या तो तेजी से बढ़ने लगता है या फिर वजन एकदम से कम होने लगता है।

महिलाओं में थायराइड हॉर्मोन की कमी की वजह से पीरियड्स भी अनियमित हो जाते हैं।

थायराइड की समस्या में कभी तो बहुत ज्यादा गर्मी लगती है तो कभी बहुत ज्यादा ठंड।

इसके अलावा इस समस्या में थायराइड ग्रंथि में सूजन भी आ जाती है, जिसकी वजह से आवाज प्रभावित होती है।

हॉर्मोन के ऊपर-नीचे होने से कब्ज की समस्या भी हो सकती है।

Related posts

उम्र के साथ मानव दिमाग होता जाता है सुस्त

rituraj

विटामिन डी की अधिक मात्रा कोरोना से बचायेगी नहीं, ज्यादा बीमार करेगी

Trinath Mishra

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 67,708 नए केस आए सामने, आंकड़ा 73 लाख के पार

Samar Khan