Fitness Life Style Mobile हेल्थ

रिसर्च: लगातार व्यायाम करने से इतने प्रतिशत एंग्जाइटी होती है कम

रिसर्च: लगातार व्यायाम करने से इतने प्रतिशत एंग्जाइटी होती है कम

आज के इस भाग – दौड़ भरी जिंदगी में हर कोई अपने आप को फिट रखना चाहता है। लेकिन हमारी जिंदगी में बदलाव इतना आ चुका है कि हर कोई एक्सरसाइज के लिए समय नहीं निकाल पाता । जिससे उन्हें कम उम्र में कई बीमारियां घेर लेती है।

स्टडी में हुआ खुलासा

स्टडी में पता चला है कि मानसिक रूप से स्वस्थ रहने और भविष्य में भी इसको बरकरार रखने के लिए सबसे आसान उपाय है नियमित रूप से व्यायाम करना । अखबार में छपी एक खबर के मुताबिक एक ताजा रिसर्च में दावा किया गया है कि रेगुलर एक्सरसाइज करने से एंग्जाइटी को रोकने में मदद मिलती है। स्टडी के अनुसार एक्सरसाइज के जरिए एंग्जाइटी के खतरों को रोका जा सकता है। यह स्टडी जर्नल फ्रंटियर्स साइकियाट्री में प्रकाशित की गई है।

लगातार व्यायाम करने से मिलता है लाभ

इस अध्ययन के निष्कर्ष बताते हैं कि जो लोग नियमित व्यायाम करते हैं, उनमें चिंता विकसित होने का जोखिम लगभग 60 प्रतिशत तक कम हो सकता है। दो दशकों से अधिक समय तक फैले लगभग 400,000 लोगों के डेटा का उपयोग करते हुए, स्वीडन में लुंड विश्वविद्यालय के लेखक भी एक्सरसाइज परफोर्मेंस लेवल में ध्यान देने योग्य अंतर की पहचान करने में सक्षम थे।

60 प्रतिशत तक रिस्क होता है कम

यूनिवर्सिटी में डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेरिमेंटल मेडिकल साइंस की तरफ से इस स्टडी के पहले राइटर, मार्टीन स्वेन्सन, और उनके सहयोगी टॉमस डीयरबोर्ग के अनुसार, “हमने पाया कि अधिक शारीरिक रूप से सक्रिय जीवन शैली वाले समूह में 21 साल तक की अनुवर्ती अवधि में एंग्जाइटी से संबंधित परेशानियों के बढ़ने का लगभग 60 प्रतिशत कम रिस्क था। शारीरिक रूप से एक्टिव लाइफस्टाइल और चिंता के कम जोखिम के बीच यह संबंध पुरुषों और महिलाओं दोनों में देखा गया। “

कोई भी व्यायाम जरूरी

अध्ययन में पता चला है कि मानसिक रूप से स्वस्थ रहने और भविष्य में भी इसको बरकरार रखने के लिए सबसे आसान उपाय है, नियमित रूप से व्यायाम। ये जरूरी नहीं है कि इसके लिए कोई विशेष व्यायाम किया जाए। आप कोई भी खेल में भाग ले सकते हैं या फिर नियमित रूप से पैदल चल सकते हैं।

Related posts

कोरोना काल में ‘इम्यूनिटी बूस्टर’ को समझें, हल्द्वानी वन अनुसंधान केंद्र कर रहा है काम

Nitin Gupta

बिहार में वायरल बुखार हो रहा है जानलेवा, 3 बच्चों की हुई मौत

Neetu Rajbhar

फर्स्ट फेज में वैक्सीन देने की तैयारी में जुटी दिल्ली सरकार, इन विभागों के कर्मचारियों को भी किया फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में

Aman Sharma