स्वास्थ : जौ के पानी के फायदें जान, हैरान रह जायेंगे आप

नई दिल्ली।  पथरी और यूरिन इंफेक्‍शन आज के समय में काफी आम हो गयें हैं। पर क्या आपको पता है कि अगर किसी को पथरी और यूरिन इंफेक्‍शन सही करना हो तो वो घरेलू चीजों से भी आसानी से ठीक कर सकता हैं। जी हां…पथरी और यूरिन इंफेक्‍शन को घरेलू चीजों के जरिेए आसानी से खत्म किया जा सकता है। पथरी और यूरिन इंफेक्‍शन होने पर आमतौर पर डॉक्‍टर जौ का पानी पीने की हिदायत देते है।

 

 

डायबिटीज और वजन कम करने के ल‍िए भी जौ का पानी किसी अमृत से कम नहीं होता है। आदिकाल से ही जौ हमारे खानपान का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा रहा है। जौ में मौजूद पौटेशियम और फाइबर की भरपूर मात्रा हमारे शरीर को कई रोगों से बचाता है। अगर हम रोजाना सुबह जौ का पानी पीएं तो इससे हमारे स्वास्थ्य को बहुत लाभ होते हैं।

 

निपाह वायरस- स्वास्थ्य मंत्रालय की अडवाइजरी, ऐसे बचें

 

जौ का पानी शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय रोगों से बचाता है। जौ में विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैगनीज, सेलेनियम, जिंक, कॉपर, प्रोटीन, अमीनो एसिड, डायट्री फाइबर्स और कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। यह शरीर के लिए कई तरह से फायदा पहुंचाता है।
आइये जानते हैं जौ के पानी के और क्या क्या फायदें हैं।

डायबिटीज में लाभकारी

डायबिटीज के मरीज भी जौ का पानी ले सकते हैं क्योंकि यह शुगर कंट्रोल करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स से डायबिटीज में भी सुधार होता है। यह गर्भावस्था में होने वाली पैरों और टखनों की सूजन को दूर करने के साथ इस दौरान होने वाली जेस्टेशनल डायबिटीज से भी बचाता है।

यूरिनरी ट्रैक्ट

बच्चों और महिलाओं में यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन होने पर जौ का पानी पीने की ह‍िदायत दी जाती है। यह मूत्र के जरिए किडनी से स्‍टोन और सिस्‍ट बाहर निकालता है।

पथरी होने पर

किडनी में स्टोन की समस्या में भी जौ का पानी पीने की सलाह दी जाती है। इसका पानी पीने से पथरी गल जाती है। पथरी के रोगियों को जो से बनी खाद्य सामग्री जैसे रोटी, धाणी, जौ का सत्‍तू खाना चाहिए।

कब्‍ज या दस्‍त होने पर

कब्ज, बवासीर और दस्त होने पर भी जौ का पानी बहुत लाभदायक होता है। जौ का पानी शरीर में होने वाले पोषक तत्वों और पानी की कमी को पूरा करता है।

रंगत सुधारने के लिए

त्वचा में निखार लाता है जौ सिर्फ हमारे लिए आंतरिक ही नहीं बाहरी रूप से भी फायदेमंद है। ये हमारी त्वचा में निखार लाता है। जौ के पानी में मौजूद अमेज़ेक एसिड से चहरे के मुँहासे ठीक होते हैं। इसके साथ आप जौ के आटे में हल्दी, सरसो का तेल और थोड़ा सा पानी मिलाकर इसका बना लें। नियमित रूप से इस लेप का प्रयोग करें व गरम पानी से स्नान कर ले। कुछ ही दिनों में आपकी त्वचा में निखार आ जाएगा।