featured लाइफस्टाइल

NSDR: बिना सोए 4 घंटे में पाएं 8 घंटे की नींद जितनी ताजगी, गूगल के CEO सुंदर पिचाई भी हैं इसके फैन

google ceo sundar pichai1 1646580588 NSDR: बिना सोए 4 घंटे में पाएं 8 घंटे की नींद जितनी ताजगी, गूगल के CEO सुंदर पिचाई भी हैं इसके फैन

NSDR: तनाव आज हमारी जिंदगी का हिस्सा बन चुका है। काफी कोशिशों के बाद भी लोग इससे बच नहीं पा रहे हैं। तनाव हमारी नींद को भी प्रभावित करता है, जिससे शरीर में कई बीमारियां जन्म लेती हैं। ऐसे में हम आज आपको एक ऐसी तकनीक के बारे में बता रहे हैं, जिसे कुछ ही देर करने के बाद आप तनाव मुक्त होंगे और आपको 8 घंटे की नींद के बराबर ताजगी 4 घंटे की नींद में ही मिल जाएगी।

क्या है एनएसडीआर (NSDR)
NSDR का मतलब है Non Sleep deep Rest. यह एक तरह का ध्यान है, जिसमें लोग लेटकर ध्यान लगाते हैं। यह ध्यान ऐसा होता है, जिसमें जागते हुए सोने की प्रैक्टिस की जाती है। 20-30 मिनट की इस प्रक्रिया से हमें तनाव मुक्त होने में मदद मिल सकती है और इसकी लगातार प्रैक्टिस से हम अपनी 8 घंटे की नींद को 4 घंटे में ही पूरा कर सकते हैं।

स्टैनफोर्ड स्कूल ऑफ मेडिसिन में मस्तिष्क की कार्यप्रणाली पर काम करने वाले डॉ. एंड्रयू ह्यूबरमैन ने दुनिया को इसके बारे में बताया। हालांकि हमारे धर्मग्रंथों में भी इसका जिक्र है और इसे ऋग्वेद में योग निद्रा के रूप में इसका उल्लेख है। पतंजलि के योगसूत्र में भी इसके बारे में बताया गया है।

कैसे होता है एनएसडीआर

  • नॉन स्लीप डीप रेस्ट की प्रक्रिया में आपको सबसे पहले शांत और कम रोशनी वाली जगह पर पीठ के बल लेटना होगा। इसके बाद अपने पूरे शरीर को ढीला छोड़ दें। हथेलियां खोलकर आसमान की तरफ रखें।
  • इसके बाद गहरी सांस लें और फिर सामान्य रहते हुए अपने दाहिने पैर के पंजे पर ध्यान लगाएं। इसके बाद अपने ध्यान को ऊपर की तरफ घुटने, जांघ पर लाएं।
  • इसके बाद दूसरे पैर के पंजे पर ध्यान लगाएं और उक्त प्रक्रिया पर फोकस करें। इसके बाद ध्यान को पेट, छाती गले पर फोकस करें और नाक से सांस छोड़ें।
  • शरीर को बिल्कुल ढीला छोड़ दें और इस प्रक्रिया को करते रहें। इससे शरीर का तापमान सामान्य होगा। इसके बाद उठकर बैठ जाएं और धीरे धीरे अपनी आंखें खोलें। इस प्रक्रिया के दौरान दिमाग को शांत रखें।.
  • एनएसडीआर करने के कई तरीके हैं, जिन्हें आप गूगल या अन्य प्लेटफॉर्म से देख सकते हैं।

क्या है इसके पीछे का विज्ञान
दिमाग में मौजूद न्यूरोन विभिन्न तरंगे पैदा करते हैं। इनमें से अल्फा तरंगे हमें खुश रखने का काम करती हैं। तनाव के दौरान हमारे शरीर में अल्फा तरंगे कम हो जाती हैं। योग निद्रा से हमारे दिमाग में फिर से अल्फा तरंगों की एक्टिविटी बढ़ जाती है. जिससे तनाव दूर होता है।

सुंदर पिचाई ने क्या कहा?

  • NSDR जिसकी बात Google के CEO सुंदर पिचाई ने की थी। अब आप कहेंगे कि यह क्या है? आपकी तरह ही मैं भी यह सोच रही थी। गूगल किया तो इसका फुल फॉर्म non-sleep deep rest पता चला।
  • इस बारे में उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि वे अपने काम का तनाव कम करने के लिए NSDR यानी non-sleep deep rest का सहारा लेते हैं। इसके बारे में उन्हें एक पॉडकास्ट के माध्यम से पता चला।
  • इसमें आप बिना सोए खुद को दोबारा नई एनर्जी के साथ काम के लायक खुद को तैयार कर लेते हैं।
  • जब भी उन्हें मेडिटेशन करना मुश्किल लगता है, तब वे YouTube पर जा कर एक NSDR का वीडियो ढूंढ़ लेते हैं। 10, 20 या 30 मिनट के इन वीडियो से स्ट्रेस फ्री हो जाते हैं।
  • हम देर तक जागने की सलाह नहीं दे रहे हैं। बस इतना बता रहे हैं कि ऐसे लोगों को योग निद्रा या NSDR की प्रैक्टिस करनी चाहिए।

ये भी पढ़ें :-

Holi 2022: बांके बिहारी मंदिर में आज खेली जाएगी फूलों की होली

Related posts

अहमदाबाद का नाम बदलने की तैयारी में है गुजरात सरकार

mahesh yadav

जम्मू-कश्मीर के बारामूला के उरी में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

Rani Naqvi

अमानतुल्ला का PAC से इस्तीफा, विश्वास घर चल रही है मंत्रणा

shipra saxena