ganga 2 1 Ganga Dussehra 2021: 20 जून को गंगा दशहरा, जाने शुभ मुहूर्त और पूजा करने की विधि

Ganga Dussehra 2021 Date: हिंदू धर्म में गंगा दशहरा की काफी ज्यादा मान्यता है। पंचांग के मुताबिक इस साल गंगा दशहरा 20 जून यानिकी रविवार को पड़ रही है। रविवार को ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि है। इस दिन गंगा दशहरा स्नान का पर्व है। पुराणों और मान्यताओं के मुताबिक इस दिन गंगा मां धरती पर उतरी थीं। इसलिए गंगा दशहरा कहा जाता है।

इस बार गंगा दशहरा के दिन एक बड़ी खगोलीय घटना भी घटित हो रही है। नवग्रहों में गुरु को सबसे बड़े ग्रह का दर्जा मिला हुआ है। इस दिन गुरु यानि देव गुरु बृहस्पति कुंभ राशि में वक्री हो रहे हैं। कुंभ राशि में ही गुरु विराजमान हैं।

गंगा दशहरा शुभ मुहूर्त

गंगा दशहरा का पर्व: 20 जून, रविवार
दशमी तिथि का आरंभ: 19 जून 2021, शनिवार को शाम 06 बजकर 50 मिनट पर
दशमी तिथि का समापन: 20 जून 2021, रविवार को शाम 04 बजकर 25 मिनट पर

गंगा जी में स्नान करें

गंगा दशहरा के दिन स्नान और दान का विशेष महत्व है। गंगा नदी या फिर किसी पवित्र नदी में स्नान अवश्य करें अगर नहीं संभव है तो घर पर ही जल में गंगा जल मिलाकर स्नान करें। तो वहीं स्नान के वक्त मंत्र का उच्चर करना उत्तम माना गया है। ये है वह मंत्र-

गंगे च यमुने चैव गोदावरि सरस्वति।
नर्मदे सिन्धु कावेरि जलऽस्मिन्सन्निधिं कुरु।

स्नान के बाद दान अवश्य करें

गंगा दशहरा के दिन दान का भी विशेष महत्व बताया गया है। इसलिए स्नान के बाद अन्न, वस्त्र या फिर धन का दान अवश्य करें शुभ माना जाता है। जरूरतमंद व्यक्तियों को क्षमता के अनुसार दान करने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है।

देव गुरु बृहस्पति इस दिन वक्री हो रहे हैं। कुंभ राशि में गुरु का वक्री होना सभी 12 राशियों को प्रभावित करेगा। गुरु को ज्योतिष शास्त्र में एक शुभ ग्रह माना गया है। गुरु को मान सम्मान, उच्च पद और शिक्षा का कारक भी माना गया है। गुरु 14 सितंबर 2021 तक उल्टी चाल चलेंगे।

रुड़की: नियमों को ताक पर रख खुलेआम की जा रही विदेशी शराब की बिक्री

Previous article

यूपी में तेज होगा वैक्सीनेशन की रफ्तार, जानिए क्या है प्लान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in धर्म