“राइट टू मैच कार्ड” के जरिए चार खिलाड़ी अपनी पुरानी टीमों में बरकरार

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11 संस्करण के लिए चल रही नीलामी के पहले दिन चार खिलाड़ियों को उनकी पुरानी टीमों ने “राइट टू मैच कार्ड” के जरिए टीम में बरकरार रखा। इस कड़ी में पहला नाम आता है भारतीय टीम के बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का। धवन को किंग्स इलेवन पंजाब ने शिखर धवन को 5 करोड़ 20 लाख रुपए में खरीदा था। लेकिन हैदराबाद ने राइट टू मैच कार्ड का विकल्प करते हुए शिखर धवन को अपने साथ बरकरार रखा।

right to match card
right to match card

बता दें कि वेस्टइंडीज के हरफनमौला खिलाड़ी किरोन पोलार्ड को मुंबई इंडियंस ने राइट टू मैच (आरटीएम) कार्ड से 5 करोड़ 40 लाख रुपए हासिल किया। इनके अलावा भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को किंग्स इलेवन पंजाब ने 4 करोड़ रुपए में खरीदा था, लेकिन राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें आरटीएम कार्ड के जरिए अपनी टीम में शामिल कर लिया। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डू प्लेसी को 1 करोड़ 60 लाख रुपए में किंग्स इलेवन पंजाब ने खरीदा था, लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स ने आरटीएम का इस्तेमाल करके डू प्लेसी को हासिल किया।

क्या है ‘राइट टू मैच’

वहीं आईपीएल की हर एक टीम को ‘राइट टू मैच’ कार्ड की भी सुविधा दी गई है। अगर कोई टीम उनके पुराने खिलाड़ी जिसकी बोली लग चुकी है, उसे वापस पाना चाहती है तो इसका इस्तेमाल कर सकती है। नीलामी खत्म होने के बाद खिलाड़ी के लिए बोली लगाई गई है के बराबर पैसे देकर उसे अपनी टीम में शामिल कर सकती है।

उल्लेखनीय है कि आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने रिटेन पॉलिसी और राइट टू मैच के तहत 5 खिलाड़ियों को अपनी पुरानी टीम में बरकरार रहने के मौके दिए थे। रिटेन किए गए खिलाड़ियों की लिस्ट जारी कर दी गई है, लेकिन ‘राइट टू मैच’ के तहत खिलाड़ियों पर सभी टीमें नीलामी के दिन ही इच्छा जाहिर करेंगी।