पाँच दिवसीय फ़िल्म एप्रिसियेशन कोर्स का देवभूमि में हुआ आग़ाज़

देहरादून । पांच दिवसीय फिल्म एप्रिसियेशन कोर्स का शुभारम्भ सूबे की राजधानी देहरादून में किया जा रहा है। ये आयोजन भारतीय फ़िल्म और टेलिविज़न संस्थान पुणे और उत्तराखंड फ़िल्म विकास परिषद के तत्वावधान में हो रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की पहल पर उत्तराखण्ड में पहली बार इस तरह की कार्यशाला का आयोजन। 6 जून से 10 जून तक आयोजित होगी पांच दिवसीय कार्यशाला। कार्यशाला में युवाओं को एफ.टी.आई. पुणे से आये विशेषज्ञों द्वारा फिल्म विधा से जुड़ी बारीकियों की जानकारी दी जायेगी।

 

 

एफ.टी.आई. व उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के संयुक्त तत्वाधान में कार्यशाला का आयोजन।  मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिह रावत मंगलवार को पांच दिवसीय फिल्म एप्रिसियेशन कोर्स का शुभारम्भ करेंगे। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र की पहल पर उत्तराखण्ड में पहली बार इस तरह की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। एफ.टी.आई. पुणे व उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के संयुक्त तत्वाधान में 6 से 10 जून तक सूचना भवन, रिंग रोड़ में आयोजित पांच दिवसीय कार्यशाला में युवाओं को एफ.टी.आई. पुणे से आये विशेषज्ञों द्वारा फिल्म विधा से जुड़ी बारीकियों की जानकारी दी जायेगी।

गौरतलब है कि विगत में देवभूमि डायलॉग कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने युवाओं से संवाद करते हुए कहा था कि राज्य सरकार युवाओं को तकनीकी क्षेत्र में दक्ष बनाने के लिए वचनबद्ध है, जिसके लिए राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों को उत्तराखण्ड में आमंत्रित किया जायेगा।

इसी क्रम में एफ.टी.आई. पुणे(भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान) द्वारा इसकी कार्ययोजना बनाकर मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत की गई। मुख्यमंत्री द्वारा राज्य के युवाओं के हित में इसकी स्वीकृति प्रदान करने के बाद 6 जून से 10 जून कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। पांच दिवसीय इस कोर्स में युवाओं को एफ.टी.आई. पुणे से आये विशेषज्ञों द्वारा फिल्म विधा से जुड़ी बारीकियों की जानकारी दी

इसके बाद अल्मोड़ा और टिहरी में भी ऐसे कोर्स कराये जायेंगे। इसके अलावा देहरादून में जुलाई, 2018 में पटकथा लेखन कोर्स भी कराया जायेगा। साथ ही अभिनय, डिजीटल छायांकन, डिजीटल फिल्म प्रोडक्शन, टी.वी. धारावाहिक के लिए काल्पनिक लेखन, स्टिल फोटोग्राफी कोर्स के साथ ही छोटे बच्चों के लिए भी फिल्म मेकिंग और अभिनय संबंधी कोर्स भी तैयार किये गये है। फिल्म एप्रिसियेशन कोर्स के प्रति युवाओं में काफी उत्साह है। पहली बार आयोजित इस कार्यशाला में प्रतिभाग के लिए कुल 116 आवेदन प्राप्त हुए हैं।