January 29, 2022 5:24 am
featured यूपी

फतेहपुर: जिला अस्‍पताल में कबाड़ एंबुलेंस का मकड़जाल, मरीजों के जी का जंजाल

अस्पताल परिसर आखिर कैसे बन गया एंबुलेंस का डंपिंग यार्ड, जानिए क्या है मामला

फतेहपुर: फतेहपुर जिला अस्पताल में एक दर्जन के आसपास कबाड़ हुई एम्बुलेंस खड़ीं हैं। इनमें कुछ एम्बुलेंस ऐसी भी हैं जिनमें रजिस्ट्रेशन नम्बर तक नही पड़ा है। इसके बावजूद भी यह कबाड़ एम्बुलेंस के साथ खड़ीं हैं। जिला अस्पताल के परिसर में कबाड़ केंद्र होने से मरीजों को दूसरी बीमारी होने का खतरा बना हुआ है। मामले पर जिला चिकित्सालय प्रभारी पुरुष, प्रभाकर आनंद और महिला चिकित्सालय की अधीक्षिका डॉक्टर रेखा रानी ने बताया कि मुख्य चिकित्साधिकारी से पत्रचार किया गया है।

जिला अस्पताल की पुलिस चौकी के पास 14 से अधिक कबाड़ एम्बुलेंस खड़ी हैं। इनमें कीड़ों से लेकर तमाम गंदगी भरी हुई है। बारिश के समय इनकी स्थिति और भी भयानक हो जाती है। इसी के ठीक सामने प्रसवोत्तर कक्ष और पास में जच्चा-बच्चा वार्ड है। दोनों जगहों पर मरीजों का आना-जाना बना रहता है। साथ ही वार्ड में मरीज भर्ती रहते हैं। ऐसे में इन कबाड़ एम्बुलेंस से संक्रमण होने का खतरा बना रहता है।

102 और 108 की यह एम्बुलेंस पहले जिला अस्पताल के बाहर मलेरिया विभाग की खाली जमीन पर खड़ीं रहती थी। वहां पर लोगों का आना-जाना भी कम होता है। ऐसे में कबाड़ एम्बुलेंस के लिए वह एक बेहतर स्थान था। लेकिन फिर इन एम्बुलेंस को वहां से हटा कर जिला अस्पताल परिसर के अंदर खड़ा कर दिया गया। जिससे काफी समय से अस्पताल आने वाले मरीजों को कबाड़ के बीच से गुजरना पड़ रहा है।

सीएमओ कार्यालय में है खाली जगह-

कबाड़ एम्बुलेंस को खड़ी करने के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय परिसर में जगह है। ऐसे में यहाँ पर कबाड़ हुई एम्बुलेंस को खड़ा किया जा सकता है। इससे मरीजों के पास से कबाड़ भी हट जाएगा और एम्बुलेंस को जगह भी मिल जाएगी। यहां पर मरीजों का आना-जाना भी ना के बराबर होता है ऐसे में सभी समस्याओं का निदान हो सकता है।

बिना रजिस्ट्रेशन के खड़ीं एम्बुलेंस-

जानकारी करने और पता चला कि कुछ एम्बुलेंस ऐसी हैं जिनमें रजिस्ट्रेशन नम्बर तक नही पड़ा है। इतना ही नही वह कबाड़ के बीच में काफी अच्छी स्थिति में दिखाई देती है। अब सवाल यह है कि क्या इस एम्बुलेंस का रजिस्ट्रेशन नही हुआ था और यदि हुआ है तो यह कबाड़ में कैसे पहुंच गयी?

“जिला अस्पताल में जो भी एम्बुलेंस खड़ीं हैं वह सीएमओ के संरक्षण में हैं। परिसर से इन्हें हटाने के लिए सीएमओ कार्यालय को पत्राचार किया गया है। जिससे कबाड़ हुईं एम्बुलेंस को जल्द से जल्द हटा कर परिसर को साफ-सुथरा किया जा सके।”

डॉक्टर प्रभाकर
जिला चिकित्सालय अधीक्षक, फतेहपुर।

“मरीजों के बीच में करीब एक दर्जन से अधिक कबाड़ एम्बुलेंस खड़ीं है। सभी को दिक्कतें होने के कारण इसे हटवाने का प्रयास किया जा रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी को पत्र भी लिखा जा चुका है। उम्मीद है जल्द ही कोई समाधान होगा।”

डॉक्टर रेखा रानी
जिला चिकित्सालय अधीक्षिका, फतेहपुर।

Related posts

अमरपाल ने लगाया बसपा पर टिकट के बदले पैसे मांगने का आरोप

kumari ashu

अयोध्या के राम मंदिर को लेकर विनय कटियार ने दिया कड़ा बयान

piyush shukla

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने किया मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा स्वरोजगार योजना का शुभारम्भ

Samar Khan