featured उत्तराखंड

पट्टी दोगी क्षेत्र में आसमानी आफत ने मचाई तबाही, खेत-खलियान,आंगन-चौक हुए क्षतिग्रस्त

navbharat times 1 2 पट्टी दोगी क्षेत्र में आसमानी आफत ने मचाई तबाही, खेत-खलियान,आंगन-चौक हुए क्षतिग्रस्त

उत्तराखंड के पट्टी दोगी के तिमली टोलकी में आई भीषण आपदा से लोगों के खेत-खलियान,आंगन-चौक से लेकर मकान,पैदल मार्ग,पुल,पेयजल लाइनें हुई बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत ने क्षेत्र का दौरा कर पीड़ितों को सरकार से मदद दिलाने का आश्वासन दिया है। पट्टी दोगी क्षेत्र में इस साल आसमान से ऐसी आफत बरसी कि जिसने कई ग्राम पंचायतों का नक्शा और भूगोल ही बदल कर रख दिया है। इस क्षेत्र की ग्राम पंचायत मंज्याड़ी के अंतर्गत तिमली के टोलकी तोंक में बारिश के कहर से आई आपदा ने सब कुछ तहस-नहस करके रख दिया है। 8 से 10 लोगों के मकान तो रहने लायक ही नहीं बचे हैं।

loot 1 8 1628517345 पट्टी दोगी क्षेत्र में आसमानी आफत ने मचाई तबाही, खेत-खलियान,आंगन-चौक हुए क्षतिग्रस्त

बता दें कि ग्रामीणों के खेत- खलियान,मकान-चौक,आंगन, खड़ी फसलें,पैदल मार्ग, 4 पुल उफान से आए मलबे की भेंट चढ़ गए हैं। देखते ही देखते मंज्याड़ी का टोलकी तोंक खंडहर के मंजर में तब्दील हो कर रह गया। गांव में आई भीषण आपदा की खबर सुनते ही क्षेत्र के पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत गांव पहुंच कर क्षतिग्रस्त क्षेत्रों में गए। ग्रामीण काश्तकारों से मिले आपदा से आई भारी नुकसान का मंजर देख पूर्व विधायक भी हैरान और परेशान दिखे।

aa l 1576248303 पट्टी दोगी क्षेत्र में आसमानी आफत ने मचाई तबाही, खेत-खलियान,आंगन-चौक हुए क्षतिग्रस्त

बता दें कि बारिश से गांव में आई तबाही के लिए पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत और ग्रामीणों ने पीएमजीएसवाई और लोक निर्माण विभाग को जिम्मेदार ठहराया गांव के ऊपरी क्षेत्र से कट रही। सड़क के मलबे को फेंकने के लिए गांव के ठीक ऊपर बहुत बड़ा डंपिंग जोन बनाया गया। डंपिंग जोन के मलबे को रोकने के लिए किसी तरह की प्रोटेक्शन दीवार नहीं लगाई गई। नतीजा यह हुआ कि सारा मलबा रौद्र रूप धारण कर गांव की खेत-खलियान सहित सब कुछ तबाह करके चला गया।

गोरखपुर में बाढ़ का कहर, जनपद में मोर्चा संभालने पहुंची एनडीआरएफ की और टीमें

वहीं क्षेत्र के पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत ने पीड़ितों को भरोसा दिलाया कि उन्हें सरकार से मदद दिलाने की तत्काल कार्रवाई की जाएगी। पूर्व विधायक ने उक्त दोनों विभागों को जिम्मेदार ठहराते हुए उन पर मुकदमा दर्ज करने की बात कही है। ग्रामीणों और पीड़ितों की मांग है कि यह गांव अब कतई रहने लायक नहीं रह गया है लिहाजा गांव को विस्थापित करें सरकार।

Related posts

मायावती ने कहा, ‘अखिलेश यादव कम अनुभवी, मैं उनकी जगह होती तो बसपा के प्रत्याशी को जिताने की कोशिश करती’

rituraj

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी फैजाबाद में रोड शो के जिरए भरेंगी कांग्रेसियों में दम

bharatkhabar

महाकुंभ 2021: दो लाख अतिरिक्त वैक्सीन मंगाएगी उत्तराखंड सरकार, केंद्र ने जारी की गाइडलाइंस

Aman Sharma