featured जम्मू - कश्मीर

जम्मू कश्मीर :कोरोना से 93 की मौत ,4225  ने दी कोरोना को मात 

corona 1 2 जम्मू कश्मीर :कोरोना से 93 की मौत ,4225  ने दी कोरोना को मात 

जम्मू कश्मीर से रवि कुमार की रिपोर्ट

जम्मू, 27 जून: जम्मू-कश्मीर में अब तक कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की गिनती 6966 तक पहुँच गयी है और इस जानलेवा बीमारी के कारण अब तक यहाँ 93 लोगों की जान जा चुकी है. जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा शनिवार को जारी मीडिया बुलेटिन की मुताबिक़ शनिवार को 204 नए मामले सामने आये हैं जिनमे जम्मू संभाग से 13 और कश्मीर संभाग से 191 शामिल हैं. वहीँ कश्मीर संभाग से शनिवार को दो मरीज़ों की कोरोनावायरस से मौत होने की जानकारी भी दी गयी है.

corona 1 जम्मू कश्मीर :कोरोना से 93 की मौत ,4225  ने दी कोरोना को मात 

मीडिया बुलेटिन के अनुसार, 6966 पॉज़िटिव मामलों में से, 2648 एक्टिव मामले हैं, 4225 पूरी तक से रिकवर हो चुके हैं और 93 लोग इस बिमारी की वजह से मारे गए हैं जिनमे जम्मू संभाग में 11 और कश्मीर संभाग से 82 लोग शामिल हैं.

बुलेटिन में आगे बताया गया कि 27 जून तक उपलब्ध 345426 कोविड टेस्ट रिपोर्ट्स में से 338460 नमूनों की रिपोर्ट तक नेगटिव आयी है. इसके अतिरिक्त, अब तक 272041 यात्रियों और संदिग्ध मामलों के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों को निगरानी के लिए सूचीबद्ध किया गया है, जिसमें 39403 व्यक्ति सरकार द्वारा बनाये गए क़्वारनटाईन सेंटर और होम क़्वारनटाईन, अस्पताल क़्वारनटाईन में 31, 2648 हॉस्पिटल आइसोलेशन और घरेलू निगरानी के लिए 47422 शामिल हैं. इसके अलावा 182444 व्यक्तियों ने अपनी निगरानी अवधि पूरी कर ली है.

बुलेटिन के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में कुल 6966 पॉज़िटिव मामलों में बाहर से आये यात्रियों की संख्या 2212 है जबकि 4754 अन्य लोग हैं. जम्मू सरकार ने बुलेटिन द्वारा लोगों को सूचित किया है कि, COVID -19 से खुद को बचाने का सबसे अच्छा तरीका दूसरों से कम से कम 2 मीटर की दूरी बनाए रखना है, दिन में बार बार अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइज़र से हाथ साफ करना या साबुन और पानी से धोना और अच्छे से चलना साफ़ सफाई बनाये रखना ज़रूरी है.

सार्वजनिक स्थलों और कामकाज वाली जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग कायम रखना और फेस कवर या मास्क लगाना अनिवार्य भी है.

बुलेटिन के माध्यम से लोगों को समझाया गया है कि कोरोनावायरस का जल्द पता लगने से बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है, इसलिए उन्हें अपने और अपने आसपास के लोगों की भलाई के लिए जिम्मेदार बनने की जरूरत है। ऐसे व्यक्ति जो लक्षणों का खुलासा नहीं करते हैं वो खुद को और अपने परिवार के लोगों के जीवन को खतरे में डाल सकते हैं। लोगों को बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई जैसे लक्षणों के मामले में जल्द से जल्द नज़दीकी स्वास्थ्य सेंटरों पर रिपोर्ट करनी चाहिए.

एडवाइजरी की माध्यम से लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने का आग्रह किया है, जब तक कि बिल्कुल आवश्यक न हो, यदि किसी को ज़रूरी कारणों से बाहर जाना हो तो सुनिश्चित करें कि वो मास्क ज़रूर पहने और सामाजिक दूरी बनाये रखने, व्यक्तिगत स्वच्छता और साबुन तथा पानी से लगातार हाथ धोने का अभ्यास करते हैं.

एडवायज़री में लोगों को बताया गया है कि किसी भी आपात स्थिति में वो टोल-फ्री नंबर 108 पर कॉल करके अपने घर पर 24×7 मुफ्त एम्बुलेंस सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं, जबकि गर्भवती महिलाएं और बीमार शिशु टोल-फ्री नंबर 102 पर डायल करके मुफ्त एम्बुलेंस सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।

लोग टोल-फ्री राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 1075 पर भी कॉल कर सकते हैं और J&K COVID-19 हेल्पलाइन नंबर 0191- 2549676 (UT स्तर सेल), 0191-2520982, 0191-2674444, 0191-2674115 (जम्मू डिवीजन के लिए), 0194-2440283 और 0194-2430581 (कश्मीर डिवीजन के लिए) पर फ़ोन करकर कोरोनवायरस वायरस (COVID-19) पर स्वास्थ्य संबंधी प्रश्नों के सवाल पूछ और कोई भी जानकारी ले सकते हैं.

https://www.bharatkhabar.com/david-warner-wife-candy-warner-tiktok-hit/

वहीँ लोगों को समय-समय पर सरकार द्वारा जारी की जाने वाली एडवायज़री का सख्ती से पालन करने की सलाह दी गयी है. लोगों को यह भी सलाह दी गयी है कि वे अफवाहें फैलाने से बचें और साथ ही साथ किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें.

Related posts

सिंघु बॉर्डर पर बैठे किसानों पर FIR, इन धारओं के तहत मामला दर्ज

Shagun Kochhar

डिक्सन टेक्नोलॉजीज ने सीएम को भेंट किए ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स

pratiyush chaubey

Delhi: जेएनयू परिसर में एमसीए की छात्रा से दुष्कर्म, आरोपी छात्र गिरफ्तार

Rahul