online shopping ऑनलाइन शॉपिंग सेल के हक में 72% ग्राहक, नहीं चाहते डिस्काउंट सेल पर लगे बैन

कोरोना काल में ऑनलाइन शॉपिंग का चलन बढ़ गया है। हालांकि इससे ग्राहक और कंपनी दोनों का ही फायदा है। क्योंकि ग्राहक को घर बैठे अपनी पसंद की चीज मिल रही है, और कंपनियों को कोरोना से बचाव के साथ-साथ कारोबार में फायदा।

34 साल बाद नया ग्राहक सुरक्षा कानून

वहीं सरकार कन्ज़्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट 2019 में बदलाव करने जा रही है। नए कानून में ग्राहकों को कई सारे अधिकार दिए गए हैं। जिससे ऑनलाइन खरीदारों को ज्यादा ताकत मिले, और ई-कॉमर्स के कारोबार में बेईमानी ना हो। इसके लिए लोगों से 21 जुलाई तक सुझाव मांगे गए। जिसको लेकर लोकल सर्कल में सर्वे कर लोगों से राय ली।

394 जिलों में किया गया सर्वे 

बता दें सर्वे में देशभर से 82 हज़ार लोगों ने प्रतिक्रिया दी। सर्वे को 394 जिलों में किया गया, और प्रतिभागियों में 62% पुरुष थे जबकि 38% महिलाएं थीं।

सर्वे में खास बात ये रही कि 49% उपभोक्ताओं ने कहा कि बीते 12 महीनों में उन्होंने ऑनलाइन खरीदारी को ही तरजीह दी है। सिर्फ 26% लोगों ने कहा कि वे मॉल, लोकल दुकान या बाजार जा रहे हैं। वहीं ऑनलाइन शॉपिंग को प्राथमिकता देने की क्या वजह है इस पर 79% ने कहा कि यह सुरक्षित और सुविधा वाला है।

भारी डिस्काउंट सेल लाने से ना रोकें

ऑनलाइन शॉपिंग की बड़ी वजह क्या है इस पर 54% लोगों ने कहा कि सेल में कम दाम पर चीज़ें खरीद पाते हैं। जो समान अवधि में नहीं खरीद पाते। वहीं 72% लोगों का कहना था कि सरकार को ऑनलाइन कंपनियों को भारी डिस्काउंट सेल लाने से नहीं रुकना चाहिए। तो 40% का कहना है कि सामान किस देश में बना है यह जानकारी लेबल पर होनी चाहिए।

मिशन 2022: उन्‍नाव में अखिलेश यादव बोले- सपा ही कर सकती है भाजपा का सफाया

Previous article

लालजी टंडन ने मायावती को दो बार बनवाया मुख्यमंत्री

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured