बोफोर्स मामले की फिर से जांच, मरे हुए घोड़े को दौड़ाने की कोशिश: आनंद शर्मा

नई दिल्ली। कांग्रेस ने केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर बोफोर्स मामले में विपक्ष को बदनाम करने के लिए राजनीतिक अभियान चलाने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं कांग्रेस नेता और पूर्व वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने बोफोर्स मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से अदालत में जांच की मांग को एक मरे हुए घोड़े को दौड़ाने की कोशिश करार दिया है। उल्लेखनीय है कि 13 साल बाद बोफोर्स मामले की एक बार फिर से जांच करने की मांग को लेकर सीबीआई तीस हजारी कोर्ट पहुंची है।

anand sharma
anand sharma

बता दें कि सीबीआई ने अंतरराष्ट्रीय प्राइवेट इन्वेस्टीगेशन एजेंसी प्रमुख माइकल हर्शमैन के नए खुलासों के बाद हासिल हुए नए सबूतों के आधार पर जांच करने की मांग की है। अदालत ने इस मामले पर सुनवाई करने के लिए 17 फरवरी की तारीख भी तय कर दी है। एक फरवरी को हुई मामले की सुनवाई के दौरान सीबीआई ने दावा किया था कि उसके पास कुछ ऐसे दस्तावेज हैं जो इस मामले में बेहद महत्वपूर्ण हैं। इतना ही नहीं सीबीआई ने इस मामले में 2005 में दिल्ली हाईकोर्ट के केस बंद करने के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में भी चुनौती दी है।

वहीं कांग्रेस के लिए हर बार परेशानी का सबब बने इस मसले पर कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने कहा, ‘‘यह कोई मुद्दा नहीं है। वो एक मरे हुए घोड़े को दौड़ाने की कोशिश कर रहे हैं। भाजपा इस राजनीतिक अभियान को विपक्ष को बदनाम करने के लिए चला रही है। जांच पूरी हो चुकी है। न्यायालय पहले ही अपना फैसला दे चुका है। अपनी असफलताओं से ध्यान हटाने के लिए यह मोदी सरकार की रणनीति है।