October 28, 2021 12:55 am
featured यूपी

यूपी के इस गांव में आज भी नहीं मनाया जाता है रक्षाबंधन का त्योहार, जनिए 250 साल पहले की जुड़ी कहानी

यूपी के इस गांव में आज भी नहीं मनाया जाता है रक्षाबंधन का त्योहार, जनिए 250 साल पहले की जुड़ी कहानी

संभलः आज देश में रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जा रहा है। पूरे देश में इस त्योहार की धूम है। उत्तर प्रदेश में भी इस त्योहार को बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाता है। लेकिन संभल जिले का एक गांव ऐसा भी है जहां इस त्योहार को नहीं मनाया जाता है।

जानिए क्या है वजह

दरअसल, आज से करीब 250 साल पहले अलीगढ़ जिले से निकलकर संभल के बेनीपुर चक गांव में बसने वाले ग्रामीण बताते हैं कि हम पहले रक्षाबंधन का त्योहार मनाते थे। सालों पहले क्षत्रिय जाति की एक युवती ने यादव जाति के भाई को राखी बांदी थी। युवती ने अपने भाई से नेग में उसकी समस्त संपत्ति मांग ली। युवती के धर्म भी ने भी अपने वचन की रक्षा के लिए अपनी सारी संपत्ति अपनी बहन को सौंप दी और गांव छोड़कर चला गया।

जिसके बाद वह संभल के बेनीपुर चक गांव आकर बस गया। इस गांव के लोग आज भी इसी भय के कारण ये त्योहार नहीं मनाते हैं, कि कहीं रक्षाबंधन पर कोई बहन नेग में सारी संपत्ति न मांग ले और उन्हें अपना वचन निभाने के लिए गांव ही छोड़ना पड़ जाए।

बेनीपुर चक गांव में यादव जाति के लोग काफी संख्या में है। गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि आज से करीब 250 साल पहले उनके बुजुर्ग अलीगढ़ के सिमरऊ गांव में अपनी सारी संपत्ति और जमीन जायदाद अपनी धर्म बहन को सौंपकर बेनीपुर चक में आकर बस गए थे। गांव वालों का मानना है कि राजपूत की युवती ने ऐसा सिर्फ अपने धर्म भाई यादव जमींदार को अजमाने के लिए किया था। बाद में उसकी बहन ने भेंट में मिली सारी संपत्ति वापस करने की पेशकश भी की थी, लेकिन जमींदार भाई ने भेंट वापस लेने से इनकार कर दिया और परिवार के साथ आकर इस गांव में बस गए।

Related posts

कोरोना को रोकने में योगी मॉडल हिट, 38 जिलों में नहीं मिले मरीज

Aditya Mishra

लॉकडाउन के फेस-3 के चलते बिहार में ग्रीन जोन को ऑरेंज जोन में तब्दीली, बहुत हद तक मिली छूट

Shubham Gupta

लखनऊः DGP मुकुल गोयल की बढ़ी मुश्किलें, इस मामले में दायर हुई हाईकोर्ट में याचिका

Shailendra Singh