आसियान-भारत व्‍यवसाय तथा निवेश सम्‍मेलन और एक्‍स्‍पो आयोजित

आसियान-भारत व्‍यवसाय तथा निवेश सम्‍मेलन और एक्‍स्‍पो आयोजित

नई दिल्ली। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने आसियान देशों के मंत्रियों तथा राज्‍यमंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी के सिंह के साथ संयुक्‍त रूप से आसियान-भारत व्‍यवसाय तथा निवेश सम्‍मेलन और एक्‍सपो का उद्घाटन किया। आसियान देशों के मंत्रियों में ब्रुनेई के प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री तथा द्वितीय विदेश और व्‍यापार मंत्री लिम जॉक सेंग, इंडोनेशिया के व्‍यापार मंत्री इनगैरसियास्‍तो लुकिता, म्‍यांमार के उद्योग मंत्री उ खिन माउंग चो, कंबोडिया के विदेश मंत्रालय में से‍क्रेट्री ऑफ स्‍टेट छुओन दारा, फिलीपींस के व्‍यापार और उद्योग विभाग की अंडर सेक्रेट्री सु नौरा काकिलाला तेरादो, थाइलैंड की वाणिज्‍य उपमंत्री सु चुटीमा बिनयाप्रफसारा, वियतनाम के उद्योग और व्‍यापार उपमंत्री कावो क्‍योक हुंग तथा आसियान के महासचिव लिम जॉक होइ इस अवसर पर उपस्थित थे। उद्घाटन सत्र में साझी समृद्धि के लिए प

ASEAN India
ASEAN India

रस्‍पर व्‍यवसाय और निवेश को प्रोत्‍साहन देने के विषय पर संवाद में पूर्व के देशों के साथ भारत के आर्थिक संबंधों को मजबूत बनाने पर भी चर्चा हुई। दोनों पक्षों का उद्देश्‍य क्षेत्र में द्विपक्षीय व्‍यापार और निवेश को बढ़ाना है। सत्र में विनिर्माण क्षेत्र में भारत और आसियान देशों के व्‍यापार को प्रोत्‍साहित करने, क्षेत्र में उद्यमिता बढ़ाने के लिए एसएमई आर्थिक प्रणाली को प्रोत्‍साहित करने तथा नए विचार पैदा करने के लिए स्‍टार्ट अप संस्‍कृति प्रोत्‍साहित करने के लिए व्‍यापार सहायता कदमों पर बल दिया गया।

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने आसियान देशों के मंत्रियों को उनकी उपस्थिति के लिए धन्‍यवाद देते हुए कहा कि भारत और आसियान देशों के संबंध गहरे और मजबूत हैं। उन्‍होंने कहा कि भारत आसियान देशों के साथ भविष्‍य में सहयोग बढ़ाने की ओर देख रहा है और अगले चार दिनों के लिए सभी कार्यक्रम साझे मूल्‍यों और समान नियति का उत्‍सव मानने के लिए तैयार है। उन्‍होंने कहा कि इस आयोजन से अगले 25 वर्षों के भारत-आसियान संबंधों का खाका तैयार करने में मदद मिलेगी।

आसियान-भारत एक्‍सपो में भारत के व्‍यापार और सेवा क्षेत्र तथा आसियान क्षेत्र की श्रेष्‍ठता प्रदर्शित की गई है। एक्‍सपो में अवसंरचना, मैन्‍यूफैक्‍चरिंग और इंजीनियरिंग, आईसीटी, स्‍वास्‍थ्‍य, पर्यटन, पर्यावरण, कृषि, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, वित्त और बैंकिंग, लॉजिस्टिक तथा रिटेल क्षेत्र के खरीदार और प्रदर्शक भाग ले रहे हैं। एक्‍सपो में आसियान देशों के व्‍यवसाय तथा कार्यकारी अधिकारी भाग ले रहे हैं| एक्सपो में आसियान देश के पैवेलियन, भारतीय राज्‍य तथा निर्यात संवर्धन परिषद के पैवेलियन हैं।