उत्तराखंड आ रहा अंबानी परिवार, शिव पार्वती के इस मंदिर में होगी शादी, जाने क्या है मान्यता

देहरादून। देवभूमि उत्तराखंड और यहां के प्राकृतिक सौन्दर्य का अद्वितीय नजारा सभी को अपनी ओर आकर्षित करता है। लेकिन इस बार देश का सबसे बड़ा औद्योगिक घराना देवभूमि में आने वाला है। ये घराना घूमने नहीं बल्कि शादी करने देवभूमि में आने वाला है। वैसे तो देवभूमि उत्तराखंड में कई बड़े सितारों और क्रिकेटरों की शादियां हुई हैं। लेकिन इस बार देवभूमि में देश के सबसे बड़े औद्योगिक घराने की शादी होने वाली है। जी हां अब आपका सस्पेंस हम दूर कर देते हैं। इस साल देश की सबसे चर्चित शादी यानी आकाश और श्लोका की शादी देवभूमि उत्तराखंड में होगी क्यूं चौंक गए आप आईये हम आपको बताते हैं ऐसा क्यूं और कहां पर होगा।

 

 

आकाश अंबानी और श्लोका मेहता की प्री इंगेजमेंट में, बॉलीवुड के दिग्गज सितारे

अंबानी परिवार अपनी धार्मिक मान्यताओं के लिए भी खासा मशहूर है

बता दें कि अंबानी परिवार जहां अपने बिजनेस सेंस और थीम को लेकर देश ही नहीं बल्कि विदेशों तक जाना जाता है। वहीं ये परिवार अपनी धार्मिक मान्यताओं के लिए भी खासा मशहूर है। इसीलिए देश के इस घराने के बेटे आकाश अंबानी की शादी की रम्मे उत्तराखंड की वादियों में स्थिति त्रिजुगी गांव में होगी। अगर सबकुछ तय कार्यक्रम के अनुसार हुआ तो देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अम्बानी अपने बेटे की शादी उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के प्रसिद्ध मंदिर त्रिजुगी नारायण में करेंगे। यहां की खूबसूरत वादियों और मंदिर की मान्यता के साथ ही ब्रदीनाथ के रावल के कहने पर आकाश और श्लोका की शादी करने का मन उत्तराखंड में बनाया गया है।

रूद्र प्रयाग जिला बाबा केदार की महिमा के लिए विश्व में जाना जाता था

वहीं देवभूमि उत्तराखंड का रूद्र प्रयाग जिला बाबा केदार की महिमा के लिए विश्व में जाना जाता था। लेकिन यहां के सूदूर स्थिति गांव त्रिजुगी में बने प्राचीन मंदिर त्रिजुगी नारायण में अंबानी परिवार अपने बेटे की शादी करने आ रहा है। मान्यता है कि इसी मंदिर में भगवान भोलेनाथ और माता पर्वती का विवाह हुआ था। ये मंदिर भगवान विष्णु और लक्ष्मी का है। इस विवाह में माता पर्वती के भाई की भूमिका भगवान विष्णु ने निभाई थी। इस बात के कई प्रमाण इस मंदिर में मौजूद है। इन्ही मान्यताओ को देखते हुए अब अंबानी परिवार ने देवभूमि उत्तराखँड का रूख किया है। अम्बानी परिवार यहाँ मंदिर में शादी करेगा उसके बाद मुम्बाई और दिल्ली में एक बड़ा रिस्पेशन करेगा।

परिवार के साथ कुछ साख लोग ही सरीख हो सकेंगे

साथ ही अबानी परिवार की इस शादी में उनके परिवार के साथ कुछ साख लोग ही सरीख हो सकेंगे। वजह इस पहाड़ी इलाके में ज्यादा मेहमानों के रूकने की कोई व्यवस्था नहीं है। इसके साथ यहां पर जगह भी कम है। इसलिए खास मेहमान की आकाश औऱ श्लोका की शादी के गवाह बनेंगे। अम्बानी परिवार शादी रुद्रप्रयाग में करेगा जबकि उनके रुकने की व्यवस्था नरेंद्र नगर के आनन्दा होटल में रहेगी। हांलाकि अभी शादी की तारीखें तय नहीं हैं। लेकिन खबर यही है कि शादी इसी साल होगी। वैसे तो इस प्रसिद्ध प्राचीन मंदिर की मान्यता देखते हुए कई बड़े सितारो ने यहां पर अपनी शादी की है। यहां तक की कई राजनेताओं ने भी अपना विवाह यहीं किया है।

प्राचीन मंदिर की मान्यता बहुत है

वैसे तो इस प्राचीन मंदिर की मान्यता बहुत है। इस प्राचीन मंदिर कई बॉलीबुड के सितारों ने अपनी शादी की है। बीते साल कविता चौधरी ने इसी मंदिर में शादी की थी। त्रिवेन्द्र रावत सरकार में मंत्री धनसिंह रावत ने अपनी शादी इसी मंदिर में की है। चूंकि इसी मंदिर में भगवान शिव औऱ पर्वती का विवाह हुआ था। लिहाजा यहां पर इसी मान्यता के चलते अब अम्बानी परिवार शादी करने जा रहा है। अंबानी परिवार द्वारा यहां पर शादी करने से सदूर स्थिति इस प्राचीन जगह को काफी अच्छा प्रचार-प्रसार मिलेगा। इसके साथ ही इस जगह पर लोगों के आने और इसे देखने की उत्सुकता बढ़ेगी। इससे इलाके का जहां विकास होगा। वहीं पर्यटन के लिहाज से भी एक बड़ा कदम होगा।

शादी करने वालों का पूरा जीवन खुशहाल रहा है

त्रिजुगी नारायण मंदिर की मान्यता है कि यहां पर शादी करने वालों का पूरा जीवन खुशहाल रहा है। क्योंकि इसी मंदिर में भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती का विवाह हुआ था। इसके कई प्रमाण यहां मौजूद हैं। आज भी इस मंदिर में वो ज्योति जल रही है जिसकी भांवर भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती ने घूमी थी। फिलहाल अब ये प्राचीन मंदिर और त्रिजुगी गांव अंबानी परिवार के बेटे आकाश की शादी का गवाह बनने जा रहा है। इस शादी पर देश ही नहीं बल्कि विदेशों की भी निगाहें लगी हैं। इस लिहाज से इस क्षेत्र में आने वाले दिनों में विकास और पर्यटन की बड़ी संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता है।

  अजस्रपीयूष