जानिए ‘नाहिद’ के खिलाफ जारी हुए 42 फतवों का क्या है कारण

असम। असम की रहने वाली नाहिद आफरीन के खिलाफ 42 मौलवीयों ने फतवा जारी कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नाहिद ने आईएस के विरोध में गाना गाया था। इस वजह से नाहिद के खिलाफ फतवा जारी किया गया है।

 

आपको बता दें की नाहिद साल 2015 में आए इंडियन आइडल जूनियर की फर्स्ट रनर अप रह चुकी है। मौलवियों ने 14 मार्च की शाम को मध्य असम के होजई और नागांव जिलों में ऐसे बहुत से पर्चे बटवाएं है चिसमें असमी भाषा में फतवा और इन मौलवियों के नाम लिखे हुए है। इस फतवे के अनुसार 16 साल की नाहिद ने 25 मार्च को असम के लंका इलाके के उदाली सोनई बीबी कॉलेज में परफॉर्म करना है लेकिन यह पूरी तरह शरिया के खिलाफ है।

इस फतवे में कहा गया है की म्यूजिकल नाइट जैसी चीजें पूरी तरह से शरिया के खिलाफ है। लेकिन इस फतवे पर 16 साल की सिंगर नाहिद आफरीन जो अभी दसवीं कक्षा में पढ़ रही है ने कहा है की मैं इस पर क्या कंहू, मुझे लगता है की मेरा संगीत अल्लाह का तोहफा है। मैं इस तरह की धमकियों के आगे झुक कर अपना संगीत नहीं छोड़ूंगी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में पुलिस का कहना है की नाहिद ने हाल ही में आतंकवाद के खिलाफ कुछ गाने परफॉर्म किए थे, जिस वजह से नाहिद के खिलाफ फतवे जारी किए गए।