cm yogi बुजुर्गों की 'बेकद्री' करने वाले सावधान, योगी सरकार लाने जा रही नया कानून

लखनऊ: यूपी में अब बुजुर्गों के साथ दुर्व्यवहार करने वालों की खैर नहीं है। बुजुर्गों की सलामती और देखभाल के लिए योगी सरकार एक नया कानून लाने वाली है। इस कानून के माध्यम से अब बुजुर्ग अपने पुत्रों-बेटियों को दी गई संपत्ति को वापस मांग सकेंगे और उन्हें संपत्ति से बेदखल भी करे सकेंगे।

‘UPSLC’ ने भेजा प्रस्ताव

इस कानून को अमलीजामा पहनाने के लिए उत्तर प्रदेश स्टेट लॉ कमिशन ने इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक प्रस्ताव सौंपा है। इस प्रस्ताव के मुताबिक अगर कोई बुजुर्ग यह शिकायत करता है कि उसके बच्चे उसकी देखभाल नहीं करते हैं तो मां-बाप की ओर से अपने बच्चे को दी गई संपत्ति की रजिस्ट्री व दानपत्र को निरस्त कर दिया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार ‘माता-पिता व वरिष्ठ नागरिकों के भरण पोषण एवं कल्याण कानून-2007 में संशोधन करने पर विचार कर रही है।

दुर्व्यवहार करते हैं बच्चे

गौरतलब है कि यूपीएसएलसी ने कानून का अध्ययन करने के बाद अपनी पहले सौंपी गई रिपोर्ट में यह बताया था कि कई बार बच्चे ही अपने बूढ़े माता-पिता को उनकी प्रॉपर्टी से बेदखल कर देते हैं। इसके साथ ही बच्चे बुजुर्गों से ऐसा व्यवहार करते हैं जिससे वो खुद ही घर छोड़कर चले जाएं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि ज्यादातर मामलों में यह भी देखा गया है कि बच्चे प्रॉपर्टी के बड़े हिस्से पर कब्जा कर लेते हैं।

आए-दिन आती हैं खबरें

बता दें कि बुजुर्गों के साथ गालीगलौज और खराब बर्ताव की खबरें आए दिन मीडिया में सुर्खियां बनती रहती हैं। बच्चे अपने बुजुर्ग मां-बाप का ध्यान नहीं देते और उनकी संपत्ति पर कब्जा कर लेते हैं। इसके बाद अपने बूढ़े मां-बाप को घर से निकाल देते हैं। फिलहाल अगर योगी सरकार ये कानून बना देती है तो इससे बुजुर्गों को नई ताकत मिलेगी और प्रदेश के लाखों बुजुर्गों को इसका फायदा मिलने की उम्मीद है।

उत्तराखंड में सभी पत्रकारों का होगा वैक्सीनेशन, सीएम तीरथ ने दिए निर्देश

Previous article

प्रतापगढ़ में अवैध शराब फैक्‍ट्री का भंडाफोड़, 212 पेटी के साथ सात गिरफ्तार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured