स्वास्थ्य विभाग के लोगों ने सपा नेता के खिलाफ खोला मोर्चा, डीएम से की शिकायत

मेरठ। इंडियन मेडिकल असोसिएशन के बेनर तले आज सेकड़ो डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय सहित मेडिकल लाइन से जुड़े हुए पूरे स्टाफ ने सपा नेता अतुल प्रधान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। अतुल पर जबरन गुंडागर्दी और रंगदारी व मारपीट करने का आरोप लगते हुए डी एम् मेरठ बी चंद्रकला से शिकायत की, और सपा नेता की इस गुंडागर्दी से बचने व रोकने की मांग भी की गई।

meert
डॉक्टरों की माने तो कल अतुल प्रधान और उसके समर्थको ने साप नेता होने का रॉब गालिब करते हुए लोकप्रिय अस्पताल में जबरन घुसकर स्टाफ के साथ मारपीट और तोड़फोड़ की, और महिला के शव को जबरन ताला तोड़कर मोर्चरी से ले गया, इतना ही नही डी एम् के सामने डॉकटरो ने सपा नेता अतुल प्रधान और उसके समर्थको पर आरोप लगते हुए कहा कि अतुल प्रधान अपने आप को सपा नेता बताकर लगातार अस्पतालों में गुंडागर्दी करता है और अस्पतालों से अवैध उगाही भी करता है, जहा कल भी ऐसा ही मामला सामने आया।

डॉक्टर्स ने बताया कि कई दिन पूर्व एक महिला को नाजुक हालत में लोकप्रिय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहा उसकी कल मौत हो गई थी, लेकिन परिजनों ने अपनी सहमति से शव को रात रात के लिए अस्पताल में रखने व सुबह को शव लेजाने की बात कही थी, जहा सुबह को अतुल और उसके समर्थक आए और अस्पताल पर पैसे मांगने का आरोप लगते हुए मोर्चरी का ताला तोड़कर महिला का शव ले गया, डॉकटरो ने अतुल प्रधान पर इस तरह से ही हमेशा गुंडागर्दी करने का आरोप लगते हुए इन्साफ की गुहार लगाई है, उधर डी एम् मेरठ बी चंद्रकला ने डॉकटरो की बात सुनकर मामला आई जी मेरठ जॉन अजय आनंद को फॉरवर्ड कर दिया है।

गौरतलब है कि अतुल प्रधान का हालही में पार्टी ने गलत आचरण के चलते मेरठ की सरधना विधान सभा सीट से टिकट कटा गया है और पिंटू राणा को सरधना से चुनाव लड़ने के लिए टिकिट दिया गया है। अतुल प्रधान पूर्व सपा छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके है और उन्होंने अपने रुतबे और सी एम् से नजदीकियो के चलते सपा के कैबिनेट मंत्री  शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश शाहिद से जिला पंचायत अध्यक्ष पद छीन कर अपनी पत्नी सीमा प्रधान को प्रत्याशी बनाकर जिताया था।

 rahul-gaupta (राहुल गुप्ता, संवाददाता)