Bharat Khabar | कोटा में फंसे यूपी के 7000 से अधिक छात्र-छात्राओं को योगी सरकार ला रही घर वापस | Special News in Hindi | Hindi News

लखनऊ। कोरोना वायरस के संक्रमण के दौरान लॉकडाउन के कारण राजस्थान के कोटा में फंसे उत्तर प्रदेश के सात हजार से अधिक छात्र-छात्राओं को योगी आदित्यनाथ सरकार ने वापस लाने का इंतजाम किया है। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की करीब सात सौ बसों को इस काम में लगाया गया है। शनिवार तथा रविवार को छात्र-छात्राएं उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहर लौटेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार के इस कदम पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सवाल उठाया है।

राजस्थान के कोटा में उत्तर प्रदेश के सात हजार से अधिक छात्र-छात्राएं इंजीनियरिंग तथा मेडिकल परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। वहां पर विभिन्न कोचिंग में यह लोग शिक्षा ले रहे हैं। लंबे लॉकडाउन के कारण कोचिंग बंद होने से यह लोग वहां पर फंसे हैं। इनकी मदद करने योगी आदित्यनाथ सरकार आगे आई है। सरकार ने उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों का बेड़ा तैयार कर लिया है। राजस्थान की सीमा से सटे जिलों से बसों को शुक्रवार देर शाम कोटा रवाना किया जाएगा। करीब तीन सौ बस शनिवार को कोटा पहुंच जाएंगी।

आगरा से शुक्रवार को 145 बसों को कोटा रवाना किया जाएगा। इन सभी बसों में बच्चों के लिए मास्क भी रखे गए हैं। आगरा में आरएम रोडवेज एमके त्रिवेदी और एडीएम सिटी प्रभाकांत अवस्थी ने पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में 145 बसों को रवाना करेंगे। बसों में जाने वाले ड्राइवर, पुलिसकर्मियों को खाने के पैकेट और पानी दिए गए। प्रत्येक बस में 25 मास्क दिए गए जो बैठने वाले छात्र छात्राओं को दिए जाएंगे।

कोटा से यह बसें विभिन्न जिलों को जाएंगी। इस दौरान सभी का शारीरिक दूरी का पालन कराना अनिवार्य होगा। इन छात्र- छात्राओं से कोई किराया नहीं लिया जाएगा। 150 बसें भेजी जा रही हैं और 50 को रिजर्व में रखा गया है। आगरा के साथ ही झांसी,जालौन, हमीरपुर से भी बसों को कोटा भेजा जा रहा है, जिससे छात्र-छात्राएं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कर अपने घरों को लौट सकें।

राजस्थान के परिवहन परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि अगर कुछ बस कम भी पड़ेंगी तो हम अपनी बसें भी लगा देंगे। संकट के इस समय में बच्चे अपने घर पहुंच जाएं, यह प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि फिलहाल उत्तर प्रदेश के आलावा किसी अन्य राज्य ने अपने गृह प्रदेश के स्टूडेंट्स को बुलाने को लेकर हामी नहीं भरी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 300 बसें कोटा आएंगी। 

बसें शनिवार और रविवार को इन स्टूडेंट्स को लेकर जाएंगी। कोटा में उत्तर प्रदेश के सात हजार से अधिक स्टूडेंट्स आईआईटी, मेडिकल और सीए एंट्रेंस एक्जाम की तैयारी कर रहे हैं। कोटा के जिला कलेक्टर ने पिछले दिनों कुछ स्टूडेंट्स को पास देकर अपने घर जाने की अनुमति दी थी, लेकिन बिहार सरकार इन स्टूडेंट्स को अपने यहां प्रवेश देने को तैयार नहीं हुई। 

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    भारत में तैयार होंगे 10 लाख आरटीपीसीआर किट्स, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिए संकेत

    Previous article

     मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने सचिवालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ बैठक ली

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured