उपलब्धि हासिल करने से ज्यादा टीम का जीतना महत्वपूर्ण-झूलन

उपलब्धि हासिल करने से ज्यादा टीम का जीतना महत्वपूर्ण-झूलन

किंबर्ले। महिला एकदिवसीय क्रिकेट में 200 विकेट लेने वाली पहली गेंदबाज बनीं झूलन गोस्वामी ने कहा कि उपलब्धि हासिल करने से खुशी तो मिलती है, लेकिन इससे ज्यादा महत्वपूर्ण है टीम का जीतना। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला के दूसरे एकदिवसीय में अपना 166वां मैच खेल रही 35 साल की झूलन गोस्वामी ने सलामी बल्लेबाज लारा वूलवार्ट को आउट करके अपना 200वां विकेट चटकाया। भारत ने यह मैच 178 रन से जीतकर श्रृंखला में 2-0 की अपराजेय बढ़त हासिल कर ली। भारत ने पहला मैच 88 रनों से जीता था।

Jhulan
Jhulan

बता दें कि गोस्वामी ने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो जब मैं दुनिया में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली गेंदबाज बनने से केवल तीन विकेट दूर थी, तो मैं गिनती कर रही था। मैंने इस मील के पत्थर को पार करने में लंबा समय लगाया, लेकिन इस बार मैं गिनती नहीं कर रहा थी। इस बार मैंने केवल अपने प्रदर्शन पर ध्यान दिया और जब आप अपना 100 प्रतिशत देते हैं तो विकेट आपको जरूर मिलते हैं। झूलन अपनी व्यक्तिगत उपलब्धि से खुश हैं, लेकिन उनका पूरा ध्यान जीत दर्ज करने पर था, क्योंकि टीम का लक्ष्य आईसीसी महिला विश्व कप 2021 के लिए क्वालीफाई करना है।

उन्होंने कहा कि 200 विकेटों की उपलब्धि हासिल करना शानदार है और वह भी तब जब आप जीतने वाली टीम में शामिल हों। हमारे लिए जीत दर्ज करना आवश्यक था। 200 विकेटों से ज्यादा महत्वपूर्ण है इस मैच से दो अंक हासिल करना, क्योंकि आईसीसी महिला चैम्पियनशिप विश्व कप के लिए एक क्वालीफायर इवेंट है। आईसीसी महिला चैम्पियनशिप के अंतर्गत ही भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर है। इस चैम्पियनशिप के अन्तर्गत प्रत्येक टीमों को सभी देशों के साथ द्विपक्षीय श्रृंखला खेलनी है और इन श्रृंखलाओं से प्राप्त अंकों के आधार पर ही टीमें विश्व कप के लिए क्वालीफाई करेंगी।