featured Gadgets

46 दिनों में व्हाट्सएप ने बैन किए 3 मिलियन भारतीय एकाउंट, जानिए क्या है बैन की वजह

WhatsApp 46 दिनों में व्हाट्सएप ने बैन किए 3 मिलियन भारतीय एकाउंट, जानिए क्या है बैन की वजह

ऑनलाइन दुरुपयोग को रोकने और यूजर के अनुभव को सुरक्षित और स्पैम मुक्त रखने के लिए फेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने मंगलवार को कहा कि उसने 16 जून से 31 जुलाई 2021 तक 46 दिनों में 30 लाख से अधिक भारतीय खातों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसका उल्लेख अनुपालन रिपोर्ट में किया गया था जो केंद्र को सौंपी गई थी।

यूजर सेफ्टी मासिक रिपोर्ट

व्हाट्सएप की लेटेस्ट यूजर सेफ्टी मासिक रिपोर्ट  से ज्ञात होता है कि इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने इस साल जून और जुलाई के महीने के दौरान 30 लाख से अधिक भारतीय अकाउंट पर प्रतिबंध लगाया है। आपको बता दें यह प्रतिबंध यूजर्स की शिकायतों, भारतीय शिकायत अधिकारी से प्राप्त मेल व प्लेटफार्म का हानिकारक प्रभाव को रोकने के लिए स्वयं से  संचालित उपकरणों के उपयोग करने के आधार पर अकाउंट्स पर प्रतिबंद लगाता है।

व्हाट्सएप ने कहा कि यह कदम उसके यूजर्स को प्लेटफॉर्म पर सुरक्षित रखने के लिए उठाया गया है। इसके अलावा, इसी के साथ यह भी कहा कि इसने भारतीय खातों के खिलाफ “भारत के कानूनों या व्हाट्सएप की सेवा की शर्तों का उल्लंघन करने की रोकथाम और पता लगाने की विधि” के माध्यम से कार्रवाई की।

अधिक जानकारी देते हुए व्हाट्सएप ने कहा कि भारत में इस तरह के 95 प्रतिशत से अधिक प्रतिबंध स्वचालित या बल्क मैसेजिंग (स्पैम) के अनधिकृत उपयोग के कारण थे।

46 दिनों में मिली 594 शिकायतें

जारी रिपोर्ट के मुताबिक 46 दिन के दौरान उसे कुल 594 शिकायतें मिली हैं, जिनमें से कुल 316 प्रतिबंध अपीलें थीं, इसके बाद 137 खाता समर्थन, 64 उत्पाद समर्थन, अन्य समर्थन (45) और सुरक्षा (32) थीं।

“आईटी नियम 2021 के अनुसार, हमने 46 दिनों की अवधि के लिए अपनी दूसरी मासिक रिपोर्ट – 16 जून से 31 जुलाई तक प्रकाशित की है। व्हाट्सएप द्वारा जारी किए बयान के अनुसार इस उपयोगकर्ता-सुरक्षा रिपोर्ट में उपयोगकर्ता की शिकायतों का विवरण और व्हाट्सएप द्वारा की गई संबंधित कार्रवाई के साथ-साथ हमारे प्लेटफॉर्म पर दुरुपयोग से निपटने के लिए व्हाट्सएप की निवारक कार्रवाई शामिल है।

दुरुपयोग प्रयोग को रोकने के लिए लगाया गया प्रतिबंध

व्हाट्सएप ने अपने जारी बयान में आगे कहा, कि यह संदेशों की उच्च या असामान्य दर भेजने वाले खातों की पहचान करने के लिए उन्नत क्षमता रखता है और भारत और दुनिया भर में इस तरह के दुरुपयोग का प्रयास करने वाले लाखों खातों पर प्रतिबंध लगाता है।

यह कहते हुए कि 2019 के बाद से की गई कार्रवाइयों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है, व्हाट्सएप ने कहा कि यह अधिक खातों को पकड़ रहा है, जबकि स्पैम या स्वचालित संदेश भेजने के अधिक प्रयास हैं। कंपनी ने कहा, “हम उपयोगकर्ता रिपोर्ट के रूप में शिकायतें प्राप्त करने से पहले ही इनमें से अधिकांश खातों पर प्रतिबंध लगा देते हैं।”

Related posts

गढ़वा घाट पर मोदी ने लिया सन्तों का आशीर्वाद, गाय को खिलाया चारा

Rahul srivastava

अमित शाह को ओवैसी की सलाह, गृह मंत्री हैं तो डराएं मत

bharatkhabar

कोहरे का सिमत: ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर आपस में टकराई 25 गाड़ियां, एक की मौत

Aman Sharma