September 29, 2022 1:53 am
featured यूपी

योगी मंत्रिमंडल विस्तार में वेस्ट से संभावनाएं, बीजेपी विधायक सोमेन्द्र तोमर कैबिनेट की दौड़ में शामिल

846960 yogi meeting योगी मंत्रिमंडल विस्तार में वेस्ट से संभावनाएं, बीजेपी विधायक सोमेन्द्र तोमर कैबिनेट की दौड़ में शामिल

उत्तर प्रदेश में रक्षाबंधन के बाद मंत्रिमंडल विस्तार होने की पूरी संभावनाएं हैं। मेरठ दक्षिण से बीजेपी विधायक सोमेंद्र तोमर भी कैबिनेट की दौड़ में शामिल हैं। वहीं विधायक लक्ष्मीकांत वाजपेयी का नाम भी आगे चल रहा है।

सोमेंद्र तोमर कैबिनेट दौड़ में शामिल, ब्राह्मण चेहरा होंगे लक्ष्मीकांत

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शुक्रवार को दिल्ली से लौटने के बाद अब मंत्रिमंडल की चर्चाएं और तेज हो गई हैं। कयास लगाए जा रहे हैं रक्षाबंधन के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की पूरी संभावनाएं हैं। योगी मंत्रिमंडल में वेस्ट से संभावनाएं तय माना जा रहा है। मेरठ से बीजेपी विधायक सोमेंद्र तोमर भी कैबिनेट की दौड़ में शामिल हैं। वहीं ब्राह्मण चेहरे लक्ष्मीकांत वाजपेयी का नाम भी कैबिनेट मंत्री की लिस्ट में आगे है। वाजपेयी हाल ही के दिनों में लखनऊ में सक्रिय थे। 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी मंत्रिमंडल में फेरबदल करने जा रही है।

एक ब्राह्मण, दलित, गुर्जर और जाट बन सकते हैं मंत्री

रक्षाबंधन के बाद होने जा रहे मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर ये भी कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार योगी कैबिनेट में सहयोगी दलों को भी जगह दी जाएगी। अपना दल से आशीष पटेल और निषाद पार्टी से डॉ. संजय निषाद को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। इसके अलावा नाराजगी दूर करने के लिए बीजेपी से एक ब्राह्मण के अलावा दलित, गुर्जर और जाट विधायक को मंत्री बनाया जा सकता है।

अमित शाह के आवास पर हुई थी बैठक

शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली से लौटे। इससे पहले गुरुवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर बैठक हुई। देर रात तक ली इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन महामंत्री सुनील बंसल के साथ हुए मंथन में 5-6 नामों को तय कर लिया गया है। केंद्रीय नेतृत्व को प्रदेश बीजेपी ने 24 या 27 अगस्त की तारीख सुझाई है।

मंत्रिमंडल में 7 मंत्री और हो सकते हैं शामिल

बताया जा रहा है कि योगी मंत्रिमंडल में अभी 7 मंत्रियों की नियुक्ती हो सकती है। बताया यह भी जा रहा है कि राज्यपाल कोटे से चार एमएलसी मनोनीत न होने के चलते मंत्रिमंडल विस्तार में देरी हो रही है। विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी एक तीर से दो निशाने मारना चाहती है। 2022 में सूबे में विधानसभा के चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में सभी दलों को साथ लेकर बीजेपी आगे बढ़ना चाहती है। मंत्रिमंडल विस्तार में सहयोगी दलों के विधायक भी नजर आएंगे।

Related posts

समाजसेवी शमशेर के निधन पर अल्मोड़ा रैमजे में एक श्रृद्धांजली सभा आयोजन किया गया

mahesh yadav

संदीप की पैरवी करने पर महिला आयोग ने आशुतोष को भेजा समन

shipra saxena

अलविदा 2017- भाजपा की रणनीति से देवभूमि की फिजा में घुला केसरिया रंग

piyush shukla