बीजेपी का अखिलेश पर पलटवार, ‘सपा सरकार में टोपी, तिलक देखकर होती थी FIR’

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश सरकार ने सूबे की पुलिस प्रणाली को लेकर सवाल उठाए थे। जिस पर अब बीजेपी की तरफ से जवाब आया है। उत्तर प्रदेश प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने सपा के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि अपराध के लिए सरकार ने जीरो टॉलरेंस रखी हुई है। अपराधियों के लिए समाजवादी पार्टी की सरकार में एफआईआर टोपी और तिलक देखकर होता था पर अब ऐसा कुछ नहीं है। पहले भर्तियां भी जाति देखकर होती थीं। यह जो जाति और धर्म की राजनीति अखिलेश यादव ने चलाई है, वह आज हम पर उंगली ना उठाएं।

 

 

उन्होंने कहा​ कि अखिलेश की आज तकलीफ यह है कि जिन-जिन अपराधियों को उन्होंने संरक्षण दिया हुआ था, वे आज उत्तर प्रदेश छोड़कर भाग रहे हैं। उनकी तरफ से फायरिंग होती है तो पुलिस उनकी तरफ काउंटर फायरिंग करती है। यही अखिलेश यादव की तकलीफ है। जिसके पास से एके-47 आते हैं, उनके बारे में अखिलेश यादव जी को जवाब देना पड़ेगा।

 

वहीं राममंदिर पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का मैनिफेस्टो स्पष्ट है कि बातचीत के आधार पर या कोर्ट के निर्णय से वहां पर राम मंदिर बनेगा। बाकी कोई और विषय आता है तो वह केंद्रीय नेतृत्व उस पर निर्णय करेगा। बता दें कि इससे पहले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली पर मंगलवार को बड़ा हमला किया।

 

सिद्धार्थनाथ ने आरोप लगाया कि सत्तापक्ष के लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। अखिलेश यादव ने औरैया एक मामले को पोस्ट करते हुए ​ट्वीट किया कि चाहे चंडीगढ़ हो या औरेया, देश-प्रदेश में हर जगह सत्ताधारी नारी सम्मान से ऐसे ही छेड़छाड़ कर रहे हैं और जो उनके ख़िलाफ़ जाते हैं। अब तो उन ग़रीब-कमज़ोर, दलित, दमित लोगों की हत्या भी हो रही है. यूपी की पुलिस इनका एन्काउंटर कब करेगी या फिर सत्तापक्ष के लोगों को अभयदान मिला हुआ है।