Breaking News featured दुनिया

अमेरिका में पाक के खिलाफ अनोखा विरोध, टैक्सी पर लिखा ”कराची को मुक्त करों”

05 02 2018 karachi अमेरिका में पाक के खिलाफ अनोखा विरोध, टैक्सी पर लिखा ''कराची को मुक्त करों''

वॉशिंगटन। अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन डीसी में कराची को मुक्त करने के लिए पाकिस्तान के खिलाफ कैंपेन का एक अलग ही रूप देखने को मिला। अमेरिका में चल रहे इस अभियान की शुरुआत डॉ मार्टिन लूथर के जन्मदिवस पर की गई है, जिसमें हजारों टैक्सियों को सड़कों पर उतारा गया। इन टैक्सियों पर लिखा गया है  कराची को मुक्त करों। ये टैक्सियां शहर के महत्वपूर्ण स्थानों जैसे व्हाइट हाउस, कैपिटल हिल, राज्य विभाग और सांसदों के कार्यालय तक भी जाएंगी। ये लोग पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रह रहे लोगों के अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। 05 02 2018 karachi अमेरिका में पाक के खिलाफ अनोखा विरोध, टैक्सी पर लिखा ''कराची को मुक्त करों''

अमेरिकी अखबार द वॉशिंगटन पोस्ट की खबर के मुताबिक इस कैंपेन के तहत 4 पेज का रैप भी छापा था। इसमें कैंपेन के उद्देश्य बताए गए थे। इस कैंपेन का मकसद पूरी दुनिया का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए किया गया है। कराची में मानवाधिकारों के दुरुपयोग पर अमेरिकी सांसद भी अपनी आवाज उठा रहे हैं। राची के प्रवक्ता नदीम नुसरत ने कहा की मुक्त कराची अभियान का कोई राजनीतिक उद्देश्य नहीं है। इसका उद्देश्य दुनिया भर में कराची के लोक-धर्म, धर्मनिरपेक्ष लोगों और सिंध के अन्य शहरी क्षेत्रों की दुर्दशा के बारे में जागरुकता पैदा करना है, जो पाकिस्तान की सेनाओं के हाथों में एक के बाद एक दमन का सामना कर रहे हैं।

नदीम नुसरत ने आगे कहा कि इस अभियान का उद्देश्य अमेरिकी प्रशासन तक इस संदेश को पहुंचाना है कि आतंकवाद और आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में लगभग 70 मिलियन मोहाजिर अमेरिकी सहयोगियों पर भरोसा करते हैं। कराची को तालिबान, आईएसआईएस और समान विचारधारा वाली चरमपंथी ताकतों से खतरा है। अमेरिका और विश्व समुदाय को तुरंत इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

 

 

Related posts

बलियाः गंगा-यमुना के बाद अब सरयू और घाघरा में उफान, गांव में घुसा पानी

Shailendra Singh

देश में कोरोना का डर, शव को शमशान पहुंचाने के लिए नहीं दिया किसी को कंधा, ठेले का लेना पड़ा सहारा

Rani Naqvi

प्रियंका गांधी सहित कई नेता पुलिस हिरासत में, राहुल गांधी राष्ट्रपति से मिलकर सौंपेंगे 2 करोड़ हस्ताक्षर वाला ज्ञापन

Aman Sharma