featured देश राजस्थान

Udaipur Murder Case: उदयपुर के नृशंस हत्या पर राहुल गांधी सहित कई दिग्गत नेताओं ने की अपनी प्रतिक्रिया

Bharat Khabar | कोरोना| राहुल गांधी | Special News in Hindi | Latest and Breakingn News for Uttrakhand and Chhattisgarh

Udaipur Murder Case: राजस्थान के उदयपुर में एक 8 साल के बच्चे के सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर उसके पिता की नृशंस कर देने का मामला गरमाता जा रहा है। पेशे से टेलर मृतक कन्हैयालाल तेली की हत्या के बाद नाराज लोग सड़क पर उतर गए हैं। वहीं, इस जघन्य वारदात को लेकर सियासी बयानबाजी भी शुरू हो गई है। एक-एक कर नेताओं की प्रतिक्रिया आने लगी है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने उदयपुर हिंसा पर ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, उदयपुर में हुई जघन्य हत्या से मैं बेहद स्तब्ध हूं। धर्म के नाम पर बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जा सकती। इस हैवानियत से आतंक फैलाने वालों को तुरंत सख़्त सज़ा मिले। हम सभी को साथ मिलकर नफ़रत को हराना है। मेरी सभी से अपील है, कृपया शांति और भाईचारा बनाए रखें।

राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट करके लिखा कि घटना बहुत बड़ी है, जघन्य है, मैंने कल भी कहा कि जितनी निंदा करें उतनी कम है। और हमने इसीलिए एसआईटी गठित की है, एसआईटी ने अपना काम शुरू कर दिया है कल रात से ही, जयपुर पहुंचते ही लॉ एन्ड ऑर्डर को लेकर मीटिंग कर रहे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने उदयपुर हत्याकांड के लिए अशोक गहलोत सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, उदयपुर की इस नृशंस घटना की जिम्मेदार गहलोत सरकार है। क्योंकि इस सरकार ने करौली दंगा के मुख्य दंगाई को खुला छोड़ा। टोंक में मौलाना ने हिंदुओं की गर्दन उतारने की धमकी दी, कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह हत्यारा भी वीडियो बनाकर नरसंहार की धमकी देता रहा, पर सरकार चुप्पी साधे रही।

आम आदमी पार्टी के सीनियर नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी इस नृशंष हत्या की निंदा करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ये दरिन्दे हैं, इनको फांसी दो, राजस्थान सरकार जागो।

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी उदयपुर हत्या मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि उदयपर में हुई क्रूर हत्या निंदनीय है। ऐसी हत्या को कोई डिफ़ेंड नहीं कर सकता। हमारी पार्टी का मुसलसल स्टैंड यही है के किसी को भी क़ानून को अपने हाथों में लेने का हक़ नहीं है। हमने हमेशा हिंसा का विरोध किया है। उन्होंने अपने अगले ट्वीट में दोषियों के खिलाफ सरकार से एक्शन लेने की मांग की है।

Related posts

मुलायम के गढ़ में माया करेंगी चुनावी रैली, दिखाएंगी अपनी ताकत

shipra saxena

चुनाव आयोग से कांग्रेस को लगा झटका, एनडी गुप्ता का नामंकन नहीं होगा रद्द

Breaking News

पन्नीरसेल्वम ने बैंकों को लिखा खत, AIADMK के खातों से लेन-देन पर रोक लगाने की मांग

kumari ashu