31 शहीद-ए-आजम को सीएम की श्रद्धांजलि, याद में बनाया गया म्यूजियम

नवांशहर। देश की आजादी के लिए महज 23 साल की उम्र में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीद-ए-आजम भगत सिंह को आज पूरा देश याद कर रहा है। इसी कड़ी में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़कलां में नशे के खिलाफ जंग का ऐलान किया। उन्होंने शहीद-ए-आजम के गांव में ड्रग अब्यूज प्रीवेंशन ऑफिसर लॉन्च किया और यहां मौजूद बच्चों, अफसरों और लोगों को नशे से दूर रहने की शपथ दिलाई। सीएम ने कहा कि युवा तभी सशक्त होगा जब वे नशे का त्याग करेगा। उन्होंने कहा की सरकार नशा तस्करों के खिलाफ मुहिम छेड़े हुए है और नशे में शामिल लोगों को सरकार कतई नहीं बख्शेगी।

31 शहीद-ए-आजम को सीएम की श्रद्धांजलि, याद में बनाया गया म्यूजियम

इसी के साथ सीएम ने यहां शहीद भगत सिंह यादगारी म्यूजियम का भी उद्घाटन किया। आपको बता दें कि भगत सिंह के गांव में इस म्यूजियम की नींव साल 2009 में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने रखी थी। उस समय इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए 16 करोड़ 81 लाख रुपये की राशि आवंटित की गई थी और प्रोजेक्ट को दो साल के अंदर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन प्रोजेक्ट पहले दिन से ही फंड़ो के आभाव के चलते देरी से शुरू हुआ और देखते ही देखते नौ साल बीत गए। इसे बनाने के लिए पहले जमीन एक्वॉयर की गई, जिसके बाद इमारत तैयार की गई, जोकि रुक-रुक कर हुआ।

वहीं म्यूजियम की के ठीक सामने आदर्श स्कूल रोड के पास अकाली ने पंजाब सरकार के खिलाफ पोल खोल रैली की। इस दौरान पूर्व डिप्टी सीएम व अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल सरकार के खिलाफ जमकर बरसे। कहा कि कैप्टन सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। उधर, शहीदी दिवस के मौके पर कैबिनेट मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने फिरोजपुर में शहीद-ए-आजम भगत सिंह, राजगुरू व सुखदेव को अर्पित की श्रद्धांजलि की। इस दौरान मनप्रीत ने 24 मार्च को पेश किए जाने वाले बजट पर भी चर्चा की। कहा कि बजट सभी वर्गाे को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। बजट सबको राहत देने वाला होगा।

अयोध्या रामनगरी में संवेदनहीन प्रशासन, नाले में गिरी महिला श्रद्धालु

Previous article

कपिल शर्मा के शो शूट फिर हो रहे हैं कैंसल-जाने वजह

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.