प्रधानमंत्री बीजेपी में से करें विभाजन और जुमलों की संस्कृति से मुक्त: कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए कांग्रेस मुक्त भारत के नारे पर दिए बयान पर पलटवार करते हुए उन्हें बीजेपी में से विभाजन की राजनीती और जुमलों से जनता को धोखा देने की संस्कृति से मुक्त करने की सलाह दी है। उल्लेखनीय है कि रविवार को एक निजी चैनल को दिए साक्षात्कार में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि कांग्रेस मुक्त से उनका मतलब बतौर पार्टी और संगठन कांग्रेस का ‘खात्मा’ नहीं है। देश की राजनीति की मुख्यधारा कांग्रेस रही है और इस वजह से वह देश की सभी पार्टियों में एक संस्कृति के तौर पर विकसित हो चुकी है।

congress and bjp
congress and bjp

बता दें कि जिसका खराब चेहरा हमारे सामने आता है, कांग्रेस की शैली जातिवाद, परिवारवाद, धोखा देना, सत्ता को दबोच कर रखना और भ्रष्टाचार के रूप में विकसित हो गई है। ‘कांग्रेस मुक्त’ भारत से मेरा मतलब इस संस्कृति के खात्मे से है। इसी सिलसिले में प्रधानमंत्री के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य अहमद पटेल ने ट्वीट कर कहा, ‘जो लोग ऐतिहासिक कांग्रेस पार्टी की पौराणिक संस्कृति पर उपदेश दे रहे हैं, उन्हें भाजपा के अंदर से विभाजन, देश को बांटने, लोकतंत्र का गला घोंटने, संवैधानिक संस्थाओं की उपेक्षा, वरिष्ठजनों का अपमान, जुमलों से देशवासियों को बेवकूफ बनाने की संस्कृति का खात्मा करना चाहिए।