ब्रिटिश संसद के बाहर सिख को मुस्लिम समझ किया हमला, हमलावर बोला ”मुस्लिम गो बैक”

लंदन। लुधियाना के रहने वाले सिख युवक को लंदन के यू.के पार्लियामेंट के बाहर नस्लभेदी हमले का शिकार होना पड़ा है। 37 वर्षिय रवनीत सिंह पर ये हमला उस समय हुआ जब वो अपने दोस्त जसप्रीत सिंह के साथ यूके पार्लियामेंट में सांसद तनमनजीत सिंह ढेसी से मुलाकात करने के लिए हाऊस के अंदर जा रहे थे। रवनीत ने कहा कि हमलावर ने उनकी पगड़ी खींचने की कोशिश की और भागते समय मुस्लिम गो बैक कहते हुए वहां से भाग निकला। लंदन के सिख समाज ने इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। रवनीत सिंह ईको सिख ऑर्गेनाइजेशन के साऊथ एशिया प्रोजैक्ट के मैनेजर हैं। यूनाइटेड स्टेट ईको सिख ऑर्गेनाइजेशन भारत समेत दुनिया में पर्यावरण सुधार के लिए कार्य कर रही है। 

मिली जानकारी के मुताबिक ऑर्गेनाइजेशन की तरफ से 14 मार्च को मनाए जाने वाले विश्व सिख ईको डे प्रोमोशन के लिए रवनीत सिंह यू.के की संसद मे सिख सांसद तनमजीत सिंह ढेसी से मुलाकात करने गए थे। इस दौरान उन पर हमला हो गया और किसी ने इसका वीडियो बना लिया। वीडियो में साफ तौर पर दिखाई दे रहा है कि हमले के तुरंत बाद सुरक्षा कर्मचारी मौके पर आ गए, जिन्होंने पुलिस को इस मामले की सूचना दी। रवनीश ने कहा कि पुलिस ने मेरा बयान दर्ज कर लिया है और सीसीटीवी की फुटेज से हमलावर को ढूंढने के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं और मैंने इस घटना को लेकर सांसद तनमनजीत सिंह को अवगत करा दिया है।

रवनीत ने इस हमले बारे यू-ट्यूब पर एक वीडियो शेयर करते हुए जानकारी दी है। रवनीत के मुताबिक वह अपने साथी जसप्रीत सिंह के साथ पाॢलयामैंट में प्रवेश करने के लिए लाइन में इंतजार कर रहा था कि एक श्वेत युवक ने पीछे से आकर झटके से मेरी पगड़ी खींची, जिससे मेरी पगड़ी आधी उतर गई लेकिन मैंने उसे पकड़े रखा। उक्त शख्स ने किसी अन्य भाषा में उस पर नस्लीय टिप्पणी भी की जिसे वह समझ नहीं पाया। वह एक श्वेत व्यक्ति था लेकिन ब्रितानी जैसा नहीं लग रहा था। हमलावर ने भागते समय मुस्लिमों वापस जाओ जैसा कुछ कहा था। लगता है कि हमलावर ने उसे मुस्लिम समझ लिया।