Breaking News featured यूपी

सीएम योगी के अस्पतालों का बुरा हाल

yogi ke hospital सीएम योगी के अस्पतालों का बुरा हाल

औरेया। प्रदेश में निजाम बदलने के बाद भी जिले में स्वास्थ सेवाओं में सुधार नही दिखाई दे रहा है।जिले के सीएचसी अस्पताल का क्या हाल है ये हम आपको दिखाते है।पहले की तरह आज भी स्वास्थ सेवाएं बदहाल है। जिले के सहार ब्लॉक में स्थित सीएचसी अस्पताल पहले जिस स्थति में था आज भी वही तस्वीर उसकी बरकार है।प्रदेश में योगी सरकार की तरफ से जनता को मिलने वाली बुनियादी सुविधाओं को लेकर काफी चहल कदमी की जा रही है।

yogi ke hospital सीएम योगी के अस्पतालों का बुरा हाल

सरकार के मंत्री व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अधिकारियो से मिलकर स्वास्थ व्यवस्था को चाक चौबंद करने की बात कर रहे है लेकिन औरैया के सहार ब्लॉक का सीएचसी असप्ताल इस कदर बीमार है कि प्रदेश में शायद ही कोई अस्पताल इस हालत में होगा।इसकी चिंता न ही स्वास्थ विभाग के अधिकारियो को है और न ही जनपद के जिला धिकारी जय प्रकाश सगर इसका संज्ञान ले रहे है ।योगी सरकार के प्रदेश में आने के बाद से सभी जनपदों में अस्पतालों में प्रसाशन व विधायको द्वारा लगातार निरिक्षण किये जा रहे है । लेकिन इसके बावजूद भी कोई असर देखने को नही मिल रहा है।

वही बात करे सीएचसी सहार में आने वाले डॉक्टरों की तो डॉक्टर कोई समय से नही पंहुचा और न ही मरीजो का इलाज हो पाता है जिससे दूर -दूर से इलाज के लिए आये मरीजो को वापस भटकना पड़ता है। अब सवाल उठता है कि सरकार से हर महीने लाखो की सैलरी लेने वाले डॉक्टर सिर्फ अस्पताल में खाना पूर्ती के लिए आते है। और वही कुछ डॉक्टर प्राइवेट प्रैक्टिस में लगे रहते है अस्पताल में वैसे भी डॉक्टरों की भारी कमी रहती है और जो है भी वो भी अगर गायब रहे तो सोचिये मरीज कहा जाए।और इन की सुध लेने वाला कोई नही है।तो वही सरकार के बेहतर स्वास्थ्य चिकित्सा के तमाम बड़े बड़े दावों की पोल खुलती नजर आ रही है।

आपात स्थिति में स्वास्थ सेवाएं मुहैया कराने वाली 108 एम्बुलेंस करीब 3 साल बीतने के बाद डगमगाने लगी है।मेंटेनेंस समस्या के चलते चाहे जब एम्बुलेंस खड़ी हो जा रही है और इसका खामियाजा पीड़ितों को भुगतना पड़ रहा है ।एम्बुलेंस ख़राब हो जाने पर 108 नम्बर डायल करने पर वाहन नही मिल पाता या फिर वाहन होते हुए भी समय से पीड़ित के पास नही पहुच पाता।निजी वाहन के भरोसे मरीजो को अस्पताल पहुचना पड़ता है। सबसे खराब स्थिति सहार ब्लॉक सीएचसी के 108एम्बुलेंस की है की है जो आये दिन ख़राब हो जाती है ।इसे धक्का मारकर स्टार्ट करना पड़ता है ।दरअसल यह समस्या एम्बुलेंस की बैटरी व सेल्फ ख़राब होने से सामने आ रही है।

वही अस्पताल में सुरक्षा की बात की जाए तो यह अस्पताल आवारा कुत्तों का अड्डा बन गया है ।यहाँ पर 24 घण्टे आवारा कुत्ते बैठे रहते है। अस्पताल सुरक्षा जमीनी तौर पर फेल होतो नजर आ रही है।यकीन नही आता तो दिखिए कि किस तरह अस्पताल के अंदर आवारा कुत्ते टहल और आराम फरमा रहे है। कभी भी बड़ी घटना अंजाम दे सकते है ।लेकिन जिला प्रसासन और अस्पताल प्रसासन क्या तभी कोई एक्शन लेंगे जब कोई कोई बड़ी घटना घटेगी।वही जब हमने इस को लेकर सीएमओ औरैया ए के राय से बात की तो उन्होंने गोल मोल जबाब देते हुए। अस्पताल में सभी कुछ ठीक ठाक बताकर अपनी ही पीठ थपथपाते नजर आये।और अपना काम पूरा कर दिया। ।

Related posts

पीएम मोदी ने आजाद, तिलक को जयंती पर श्रद्धांजलि दी

bharatkhabar

पंचायत चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस, युवाओं को मिलेगा मौका

sushil kumar

एकतरफा प्यार में लड़की को मिली खौफनाक मौत की सजा

Pradeep sharma