August 14, 2022 11:47 pm
Breaking News यूपी

शिक्षा से ही बदलेगा समाज की दशा व दिशा: प्रो. संजय सिंह

IMG 20210905 WA0006 शिक्षा से ही बदलेगा समाज की दशा व दिशा: प्रो. संजय सिंह

लखनऊ। बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय लखनऊ के आजादी का अमृत महोत्सव कमेटी और 20 यूपी गर्ल्स बटालियन एनसीसी एवं 67 यूपी बटालियन एनसीसी लखनऊ द्वारा संयुक्त रूप से शिक्षक दिवस के अवसर पर फैकल्टी एक्सीलेंस कोविड-19 एक्सपीरियंस एस विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रोफेसर रोशन लाल रैना, वीसी, जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी रहे। बीबीएयू के कुलपति प्रो. संजय सिंह भी मौजूद रहे।

IMG 20210905 WA0008 शिक्षा से ही बदलेगा समाज की दशा व दिशा: प्रो. संजय सिंह

आजादी का अमृत महोत्सव कमेटी की अध्यक्ष प्रोफेसर शिल्पी वर्मा ने सभी का कार्यक्रम में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि कोई भी शिक्षक बिना विद्यार्थियों के शिक्षक नहीं बन सकता इसलिए शिक्षकों के साथ हमारे सभी विद्यार्थी भी शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। इसके साथ ही उन्होंने कार्यक्रम की रूप रेखा के बारे में भी जानकारी दी।

IMG 20210905 WA0005 शिक्षा से ही बदलेगा समाज की दशा व दिशा: प्रो. संजय सिंह

इस अवसर पर कुलपति प्रो संजय सिंह ने कहा कि शिक्षा समाज की दशा एवं दिशा दोनों बदल सकती है, इस दृष्टिकोण से राष्ट्र निर्माण में शिक्षक की अहम भूमिका होती है। शिक्षक एक मार्गदर्शक के रूप में भावी पीढ़ी को सही दिशा दिखाने का कार्य करता है। प्रोफेसर रोशन लाल रैना ने सभी को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोविड के दौरान हर सेक्टर बुरी तरह प्रभावित हुआ, अर्थव्यवस्था पर भी इसका सीधा असर देखने को मिला मगर शिक्षा एक ऐसा क्षेत्र रहा जिसने इस परिस्थिति पर विजय प्राप्त कर ऑनलाइन माध्यम से शैक्षिक गतिविधियों को जारी रखा। शिक्षकों और विद्यार्थियों को ओरिएंटेशन के माध्यम से ऑनलाइन शिक्षा के बारे में जानकारी दी गई। इसके साथ ही उन्होंने सभी से वैक्सीन लगवाने और कोविड गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने का आग्रह  किया।

IMG 20210905 WA0004 शिक्षा से ही बदलेगा समाज की दशा व दिशा: प्रो. संजय सिंह

डीएसडब्ल्यू प्रोफेसर बी एस भदौरिया ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कोविड का समय हम सभी के लिए चुनौतीपूर्ण रहा है मगर हमने सभी चुनौतियों का बखूबी सामना कर पठन पाठन का कार्य जारी रखने में सफलता प्राप्त की है। कोविड में सबसे बड़ी चुनौती हॉस्टल में रह रहे विद्यार्थियों को सकुशल उनके घर तक पहुँचाना था, हमने ये कार्य भी सफलतापूर्वक पूरा किया है। कोविड के डर से विद्यार्थियों को बाहर निकालने के लिए कॉउंसिल की। ऑनलाइन शिक्षा सुचारू रूप से चल सके इसके लिए वेबेक्स सॉफ्टवेयर भी खरीदा गया।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रोफेसर एस विक्टर बाबू ने डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन को याद करते हुए शिक्षक दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि शिक्षक राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाते हैं। विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण से लेकर  भविष्य में किस दिशा में आगे जाना है इसकी प्रेरणा भी उन्हें शिक्षकों से प्राप्त होती है। कार्यक्रम की आयोजन सचिव डॉ राजश्री ने कार्यक्रम का संचालन किया।

Related posts

UP Block Pramukh: राजा भैया के गढ़ में इस बार उन्हें मिल रही कड़ी चुनौती, सालों बाद दिलचस्प जंग

Aditya Mishra

लखनऊ: वोटर आईडी कार्ड बनवाने के लिए सभासद की अनोखी पहल, पढ़िए पूरी खबर

Shailendra Singh

सेना बात नहीं, कार्रवाई करेगी : वायुसेना प्रमुख अरूप राहा

bharatkhabar